आपको नपुंसक बना सकता हैं सिगरेट या तंबाकू का सेवन

भारत दुनिया में एक ऐसा देश है जहाँ के लोगो में कैन्सर होने का खतरा बहुत अधिक होता है गुटखे में तंबाकू, कत्था, सुपारी, चूने के साथ और कई नशीले पदार्थों को बखूबी मिलाया जाता है, ये नशीले पदार्थों हमारे शरीर के एंजाइमों पर बहुत ही बुरा प्रभाव डालते हैं। हमारे शरीर के हर अंग में पाए जाने वाले साइप-450 नामक एंजाइम की कार्यक्षमता पर इसका बहुत ही बुरा असर पड़ता है।

एक ताज़ा रिसर्च में पता चला है की ये एंजाइम हार्मोंस के उत्पादन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा गुटखा हमारे शरीर में टॉक्सिन बनने की प्रक्रिया में भी बहुत बाधा पहुंचाता है। जो हार्मोन टॉक्सीन बनाते हैं, यह उनको बहुत अधिक नुकसान पहुंचाता है। यह प्रयोग जानवरो पर भी किया गया है।

आपको बता दे की तंबाकू में कई प्रकार के रसायन होते हैं, जो हमारे रक्त में मिलकर पुरे शरीर पर बहुत ही गहरा असर करते हैं। इससे पहले वैज्ञानिकों के पास धुआंरहित तंबाकू का शरीर के अन्य अंगों पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों के विषय में बहुत अधिक ज्ञान नहीं था। इसी बात की जाँच करने के लिए अनुसंधानकर्ताओं ने प्रयोगशाला में और धुआंरहित तंबाकू यानी गुटखे के एंजाइम्स और जेनेटिक्स पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों को चूहों के शरीर पर बखूबी प्रयोग किया गया है।