भीगी हुई किशमिश रखती है बीपी को कंट्रोल, पाचन तंत्र को भी बनाती है सुचारु

किशमिश नट्स होते हैं जिसका सेवन भिगोकर करना बहुत फायदेमंद होता है। किशमिश में फाइबर, विटामिन, मिनरल की अधिक मात्रा पाई जाती है जो शरीर को स्वस्थ रखने में कारगर है। इसके सेवन से बहुत से रोगों और बीमारियों को दूर किया जा सकता है। भीगी हुई किशमिश में शुगर प्राकृतिक होती है इसलिए इसका सेवन डायबीटीज के पेशेंट्स को नहीं करना चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

भीगी हुई किशमिश का सेवन रात्रि में करने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट्स इम्यूनिटी बढ़ाने में विशेष भूमिका निभाते हैं।  इसके सेवन से वायरस और बैक्टीरिया से लड़ा जा सकता है।

बीपी रखे कंट्रोल में

बीपी को नियन्त्रित रखने में भीगी हुई किशमिश बहुत लाभदायक होती है।  इसके सेवन से हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन से बचा जा सकता है। पोटैशियम की मात्रा होने के कारण किशमिश हाइपरटेंशन से राहत दिलाने में सहायक होती है।

खून बढ़ाने में लाभदायक

आयरन की मात्रा किशमिश में अधिक होने के कारण यह एनीमिया से बचाती है। विटामिन बी काम्प्लेक्स भी इसमें भरपूर होते हैं जो खून बढ़ाने में मददगार होते हैं।

पाचन तंत्र रखे सुचारु

पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाने में भीगी हुई किशमिश बहुत फायदेमंद होती है।  इसमें मिनरल्स अधिक होते हैं जो हड्डियों के लिए लाभदायक है। रोज़ाना 10 किशमिश खाने से डाइजेशन अच्छे से हो पाता है। फाइबर से भरपूर किशमिश शरीर को स्वस्थ रखती है।