सेहत से जुड़ी कुछ बातें, जानें क्या है सच, क्या है झूठ

हम अपने स्वास्थ्य के बारे में जितना भी जानें, उनमें से कुछ सच तो कुछ झूठ होती हैं। आप इन सच और झूठ के बारे में कितना जानते हैं? अगर नहीं जानते तो जरूर जानिए वरना आपकी सेहत पर इसका दुष्प्रभाव पड़ सकता है।

-कहते हैं कि शाम को पांच बजे के बाद कार्बोहाइड्रेट लेना नहीं चाहिए। असल में अगर आप वजन नियंत्रण रखना चाहते हैं तो पांच नहीं सात बजे के बाद ऐसी चीजें खाने से बचें, जिनमें कार्बोहाइड्रेड होता है। रात के समय हमेशा ऐसी चीजें ही खाएं जो आसानी से पच जाएं।

-एक और झूठ यह है कि केला और सेब लौह तत्वों से भरपूर हैं। इसलिए वह कटने के बाद भूरे हो जाते हैं। जबकि यह झूठ है। भूरा होने की वजह आयरन नहीं एंजाइम हैं। रंग गहराने के पीछे फलों में मौजूद फिनॉलिक कंपाउंड का ऑक्सीडेशन हैं, ये कंपाउंड हवा में तैरती ऑक्सीजन के संपर्क में आने से रंग बदलते हैं।

-कुछ लोगों का मानना है कि दूध और उससे बने उत्पाद बचपन बीत जाने के बाद उपयोगी नहीं। दूध और दूध से बने उत्पादों में केवल प्रोटीन ही नहीं आवश्यक एमिनो एसिड, फैटी एसिड तथा कैल्शियम के साथ विटमिन ए, डी तथा मैग्नीशियम, फास्फोरस व पोटेशियम भी होता है। दूध अवश्य लें भले ही वह लो फैट हो।

-यह भी एक भ्रांति है कि खाने में डाले गए नमक से ज्यादा नुकसानदेह है, ऊपर से नमक डालना है। जबकि तैयार खाने में पहले से डाला गया हो या ऊपर से मिलाया गया, उसमें मौजूद सोडियम एक समान होता है।