कहीं आप भी तो नहीं पी रहे धीमा जहर अपनी बॉडी बनाने के लिए

शरीर को सुंदर बनाने, वजन घटाने और ताकत के लिए तरह-तरह की दवाइयां और विटामिन के विज्ञापन अक्सर टीवी और समाचारपत्रों में हमेसा आते रहते हैं। जिससे आम लोग खासकर युवा इसके प्रभाव में आ जाते हैं। इन विटामिन (सप्लीमेंट्स) के लाभ होने की बजाए नुकसान बहुत अधिक होता है। इनका अधिक मात्रा में सेवन करने पर उनकी जान भी जा सकती है। प्रोटीन पाउडर और विटामिन की गोलियां लेने से शरीर के कई अंगों को नुकसान भी हो सकता है। कई बार तो इनके साइड इफैक्ट इतने बढ़ जाते हैं कि लीवर जैसे जरूरी अंग जल्द खराब हो जाते हैं।

कई बीमारियों की जड है फूड स्पलीमेंट
यह बनावटी प्रोटीन के सेवन से ब्लड प्रैशर,डिप्रैशन,डायबिटीज और हड्डियों में हमे दर्द होने की परेशानी हो सकती है। इससे और भी कई तरह की बीमारियां भी सामने आ सकती हैं।

नींद, भूख और डिप्रैशन
इस प्रोटीन का बहुत सीधा असर नींद, भूख और पाचन क्रिया पर होता है। इस तरह की दवाइयों सेे शरीर में विटामिन और प्रटीन की कमी तो अछि से पूरी हो जाती है लेकिन हार्मोन्स का बैलेंस बिगड जाता है। जिससे डिप्रैशन होने का खतरा भी बहुत बढ़ जाता है।

मर्दाना कमजोरी
कम समय में जल्दी बॉडी बनाने के चक्कर में इन फूड सप्लीमेंट के सेवन से मर्दाना ताकत पर भी बहुत असर पड़ता है। इससे कमजोरी आनी भी शुरू हो जाती है।

ग्रीन टी के नुकसान
बाजार में मिलने वाली ग्रीन टी में प्रोटीन पाउडर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। एक दिन में 20 कप ग्रीन टी पीना नुकसानदेह भी हो सकता है क्योकि इसमें कैफीन नमक तत्व पाया जाता है जो सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। लगातार ग्रीन टी का सेवन करने से पेट से जुड़ी परेशानिया भी हो सकती है। इससे पेट दर्द, एसिडिटी और कब्ज की समस्या भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें-

रसभरी फल कई बिमारियों का इलाज है