सोनू सूद बुजुर्गों के लिए करेंगे इस नए पहल की शुरुआत

सोनू सूद इस साल समाज के लिए हर तरीके से मदद करते नजर आए हैं। सोशल मीडिया और टैक्नॉलॉजी के जरिए हर तरीके से सोनू मदद करते दिखे हैं ‌। जंहा सोनू मजदूरों और बच्चों के साथ साथ अब बुजुर्गों की मदद करने भी जा रहें हैं। जिसकी जानकारी सोनू ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी। इसी के साथ सोनू देश में किसानों के लिए उठ रहीं आवाज का हिस्सा भी बनते दिखे और उनकी मदद के लिए सरकार से मांग की। इन सब के दौरान ही सोनू देश के कई मुद्दों पर भी अपनी बात रखते नजर आए हैं।

सोनू ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर बुजुर्गों के मदद के लिए शुरू किए पहल की जानकारी दी और पोस्टर शेयर किया। इस पहल का नाम ‘रुक जाना नहीं’ रखा गया। पोस्टर में बुजुर्गों और अंपग के साथ-साथ युवा शक्ति को भी दिखाया गया। इसी के साथ नीचे लिखा गया,’सिनीयर सिटीजन के लिए एक कदम…’ इस पोस्टर के साथ सोनू ने लिखा, ‘ हमारा अस्तित्व हमारे बढ़े बुजुर्गों से हैं..।

सोनू जल्द ही इस पहल की अधिक जानकारी देंगे। और अब बुजुर्गों की मदद करते भी दिखेंगे। इसी के साथ सोनू सूद ने हाल ही में अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए अपनी पहली बुक लांच करने की जानकारी दी। जो सोनू ने ऑथर मीना अय्यर के साथ मिलकर लिखी हैं। इस बुक में सोनू अपने द्वारा मजदूरों को मदद करने की पूरी जर्नी को बताएंगे साथ ही इस बुक के जरिए ही सोनू अपनी सोच को सामने रखते हुए नजर आएंगे। इस बुक में सोनू ने मजदूरों के दुविधा और उनको मदद करने के लिए उठाए गए कदम के पीछे की कहानी और उनकी सोच की जानकारी देंगे।

सोनू सूद जो 2020 में मजदूरों और ज़रूरतमंदों की मदद डिजीटली और ग्राउंड लेवल पर कनेक्ट होकर करते नजर आए। ऐसे में उन्हें इस बार कई पद्वी दी गई और वह रील हीरों के साथ-साथ सच्चे दिलदार और रियल हीरो भी साबित होते हुए नजर आए। सोनू को कई बार इन मजदूरों का मसीहा भी कहा गया। और इसी पर अब सोनू एक बुक लांच करने जा रहें हैं।

सोनू द्वारा लांच की जा रही उनकी यह पहली बुक इस महीने दिसंबर में रिलीज की जाएगी। वहीं इस बुक को अब प्री-आर्डर भी किया जा सकता है। इस बुक को पैंग्विन इंडिया पब्लिशिंग हाउस के अंडर पब्लिश किया जा रहा है। यह बुक हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषा में पब्लिश किया जा रहा है। बुक का नाम ‘मैं मसीहा नहीं’ और ‘आय एम नॉट मसीहा’ है।