अल्सर पीडि़त रखें इस बात का विशेष ध्यान, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

अगर आपको पेट का अलसर है तो आपको खाने की इन चीज़ों से पूरी तरह परहेज़ कर लेना चाहिए। पेट का अलसर कुछ ख़ास किस्म के छाले होते हैं जो आपके पाचन तंत्र की दीवारों पर एक पतली झिल्ली बना लेते हैं।

आपको बता दे कि भारत में 90 लाख से ज्यादा लोग इस गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं। हालांकि इसका इलाज है लेकिन इस दशा में पेट में भयानक दर्द और असहजता होती है। इसके अलावा अन्य बहुत सारे लक्षण जैसे सूजन, मिचली आना, एसिडिटी भी इस दशा को और तकलीफदायक बना देते हैं। इसलिए ज़रूरी है कि अपने खान-पान पर ध्यान रखा जाए जिससे दर्द ना बढ़े। कुछ खाद्य पदार्थ पेट में एसिड की मात्र बढ़ा देते हैं जिससे आपकी समस्या बढ़ सकती है।

इसीलिए आज आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं जिनका आपको सख्ती से परहेज करना है। स्वस्थ खान-पान और तनावमुक्त जीवनशैली आपके स्वास्थ में बहुत अंतर ला सकती है। फिर भी अगर आपकी तकलीफ बढती जा रही है तो डॉक्टर से सलाह लेकर ज़रूरी इलाज करवाएं जिससे यह बीमारी और ना बढ़े।

कॉफ़ी:

कैफीन के सेवन से आपके पेट में एसिड की मात्र बढती है। इस कारण पेट के अलसर के मरीज को कॉफ़ी से परहेज़ करना चाहिए ताकि आपके पेट में एसिड की मात्र ना बढ़े। साथ ही आपके स्वास्थ में जल्दी सुधार हो।

मिर्च-मसालेदार भोजन:

कई शोधों से यह पता चला है कि मसलेदार भोजन से अलसर बढ़ते हैं और स्थिति और खराब हो जाती है। छालों में जलन होती है। अतः मसालेदार भोजन से परहेज़ करें।

बेक किये हुए खाद्य पदार्थ:

बेक किये हुए खाद्य पदार्थों में ट्रांस वसा की मात्रा बहुत होती है इस कारण यह पेट के एसिड को बढाता है। इसे अलसर में जलन होती है। अतः ऐसे पदार्थों से परहेज़ ज़रूरी है।

सफ़ेद ब्रेड:

यह भी एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिससे अलसर की स्थिति और बिगड़ सकती है। अतः अपने भोजन से सफ़ेद ब्रेड को पूरी तरह से हटा देना स्वास्थकर होता है।

लाल मांस:

लाल मांस में वसा की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस कारण यह अलसर की स्थिति को और विकट बना देता है। अतः हर हाल में लाल मांस से परहेज़ ज़रूरी है।

शराब:

शराब का अत्यधिक सेवन आपके पाचन तंत्र को खराब कर देता है। अतः जिन लोगों को पेट में अलसर है उन लोगों को बहुत अधिक शराब नहीं पीनी चाहिए। इसके अलावा यह भी देखा गया है कि अधिक शराब पीने वाले लोगों में अलसर होने का खतरा अधिक होता है

डेयरी उत्पाद:

डेयरी उत्पादों का सेवन पेट में एसिडिटी बढाता है। अलसर की स्थिति में हालत और भी बिगड़ सकती है। अतः जब तक अलसर ठीक ना हो जाये, दूध और अन्य डेयरी उत्पादों से दूरी बना ले।

ऐसे ज़ख्म पर लगाएं नींबू का रस, मिलेगा जल्द राहत