Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / ठंड का मज़ा ले लेकिन संभल कर

ठंड का मज़ा ले लेकिन संभल कर

ठंड के कारण खांसी, छाती में जकड़न जैसी बीमारियां उत्पन्न होने लगती है। इस मौसम में शरीर का तापमान कम होने पर भी परेशानी होती है। इसे हैपोथर्मिया कहा जाता है। सर्दियों में हमारी त्वचा में पानी की मात्रा कम होने लगती है। इससे बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

हायपोथर्मिया: यह एक ऐसी अवस्था है जब शरीर का तापमान घटने लगता है। इसके कारण शरीर एकदम ठंडा पड़ जाता है। इसमें हार्ट रेट और सांस गति धीमी पड़ जाती है जिससे आपको सामान्य से अधिक ठंड लगती है। इसके कारण शरीर में थकान महसूस होने लगता है।

Loading...

निमोनिया: निमोनिया सर्दी के मौसम में बच्चो सबसे अधिक प्रभावित करती है। इसमें फफरे में सूजन आ जाती है। जिसकी वजह से सांस लेने में दिक्कत आती है। इसके अलावा, तेज बुखार, शरीर में कंपन आदि इसके सामान्य लक्षण है। यह बीमारी इंफेक्शन की वजह से होती है। कभी कभी ये बीमारी जानलेवा भी साबित हो जाती है। इससे बचने के लिए टीका भी उपलब्ध है जिसे नीमोकॉकल वैक्सीन या फिर पीसीवी भी कहा जाता है।

डर्मेटाइटिस: इस मौसम में हमारी त्वचा को कई प्रकार की एलर्जी का सामना करना पड़ता है। जैसे त्वचा में दरार, खुजली और अन्य चर्म रोग। हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाने के कारण डर्मेटाइटिस का खतरा बनता है।

जोड़ों का दर्द: आर्थराइटिस के रोगियों की तकलीफ़ शीत काल में बढ़ जाती है। उनके जोड़ों हमेशा बहुत दर्द होता रहता है। जोड़ों में अकड़न के साथ दर्द बना रहता है जिससे उन्हें उठने बैठने में तकलीफ़ होती है। इससे बचने के लिए रोज़ाना मालिश करें और व्यायाम करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *