जरूर पढ़ें: ग्रीन टी टैबलेट लेना करें बंद, वरना हो सकता है लीवर डैमेज

वजन कम करने और एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होने के लिए अगर आप ग्रीन टी टैबलेट ले रहे हैं तो उसे लेना आज ही बंद कर दें। इस टैबलेट के साइड इफेक्ट इतने गंभीर हैं कि इससे आपको अपनी जान तक गंवानी पड़ सकती है। लीवर डैमेज के साथ ही हेपेटाइटिस और किडनी फेल्योर जैसी समस्या ग्रीन टी टैबलेट लेने से हो रही है। हाल ही में कई देशों में इस टेबलेट के साइड इफेक्ट सामने आने के बाद वहां इसे बैन किया जा रहा है। हाल ही में कनाडा में दो लोगों की मौत व कई लोगों के बीमार होने के बाद वहां के लोगों को इसे न लेने की चेतावनी दी गई है। यूएसए और आस्ट्रेलिया में भी इसके साइड इफेक्ट देखने को मिले हैं। आइए जानते हैं कि इस टैबलेट में ऐसा क्या है जिस कारण लोगों इतने नुकसान उठाने पड़ रहे हें। साथ ही इसके क्या-क्या नुकसान है इसे भी बताते हैं। याद रखें कि ग्रीन टी एक्सट्रैक्ट से भरे कैप्सूल या टैबलेट ही नहीं अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से भी यही नुकसान हो सकते हैं।

खाली पेट लेने से सबसे ज्यादा हो रहा नुकसान

ग्रीन टी टैबलेट को खाली पेट लिए जाने से ही सबसे ज्यादा नुकसान सामने आ रहे हैं। खाली पेट लेने से इसमें मौजूद एक्टिव इनग्रिडिएंट्स बहुत ही पावरफुल हो जाते हैं और सीधे लीवर को इफेक्ट कर रहे हैं। ग्रीन टी एक्सट्रेक्ट बहुत ही एक्टिव होने से लीवर और किडनी को इफेक्ट कर रहा है। इससे उल्टी, दस्त के साथ भूख न लगने जैसी समस्या सामने आने लगती है। साथ ही ये एलानाइन एमिनो ट्रांसफेराज़ लेवल (एएलटी) को भी प्रभावित करती है और इससे लीवर डैमेज होने की संभावना बनती है।

ग्रीन टी टैबलेट के प्रयोग के पीछे कई कारण

कैंसर से बचाने के साथ ही ये एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। साथह यह वजन कम करने के लिए भी काम आती है। कैप्सूल, टेबलेट या पाउडर के रूप में इसे बाजार में उतारा गया है। खाली पेट ये सबसे ज्यादा नुकसान कर रही है।

इन नुकसान को भी जानिए जो टैबलेट के साथ अधिक ग्रीन टी पीने से भी होते हैं

-ग्रीन टी टैबलेट या टी में टैनिन्स बहुत अधिक मात्रा में होता है और ये एसिड लेवल को बढ़ा देता है जिससे पेट में असहनीय दर्द और कांस्टीपेशन जैसी समस्या को पैदा करता है। यही नहीं प्रिगनेंट लेडी के लिए यह एबॉरशन जैसी समस्या भी पैदा कर सकता है।

-ग्रीन टी एक्सट्रैक्ट में कैफीन का स्तर बहुत ही ज्यादा होता है। इससे सिर में दर्द और बेचैनी जैसी समस्या हो सकती है।

-ग्रीन टी एक्सट्रैक्ट से एनिमिया का खतरा भी बढ़ जाता है। दिल के लिए भी ये एक्सट्रेक्ट सही नहीं हैं। हालांकि अत्यधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से भी यही समस्या हो सकती है।