गोरखपुर में एक करोड़ रुपये की फिरौती के लिए पांचवीं में पढ़ने वाले छात्र की हत्या

यूपी के गोरखपुर से खौफनाक मामला सामने आया है। महज एक करोड़ रुपये की फिरौती के लिए पांचवीं में पढ़ने वाले छात्र बलराम की अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी। पुलिस ने किराना व्यापारी के बेटे बलराम की लाश को सोमवार की शाम जंगल के किनारे एक बोरे से बरामद किया है। जिसकी जानकारी संदेह के आधार पर उठाए गए दो युवकों की निशानदेही पर मिली। मामला रविवार का है जब देर रात बच्चे का पता नहीं चलने पर परिजन पुलिस तक पहुंचे थे।

बच्चे के अपरहण के बाद बलराम के घर वालों के पास रविवार को अलग-अलग समय पर तीन फोन कॉल आई थी। फोन पर परिजनों से एक करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की गई। शाम तक बच्चे का सुराग नहीं लगा तो परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। फिरौती की रकम सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए और पूरा प्रशासन हरकत में आ गया। बाद में एसएसपी ने इस मामले में एसटीएफ और क्राइम ब्रांच को लगा दिया। लेकिन अपरहणकर्ताओं का सुराग नहीं लगा।

शक के आधार पर एसटीएफ व क्राइम ब्रांच के साथ ही पिपराइच थाने की पुलिस टीमों ने जंगल धूसड़ इलाके से एक मुर्गा कारोबारी, मोबाइल सिम बेचने वाले एक दुकानदार और एक प्रॉपर्टी डीलर को हिरासत में लिया। वही रविवार रात 9 बजे बलराम के घर पर अपहर्ताओं ने फोन किया और कहा कि कुछ भी रकम मिल जाये तो वह बच्चे को छोड़ देंगे। ऐसे में बलराम के पिता ने 20 लाख रुपये देने की हामी भर दी। दूसरी तरफ पुलिस ने अपना कड़ा रवैया अपनाये रखा।

पुलिस की कड़ाई की वजह से सोमवार दोपहर हिरासत में लिए गए तीन युवकों में दो टूट गए और बच्चे की हत्या करने की बात कबूल की। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने जंगल तिनकोनिया में नाले के किनारे बोरे में फेंकी गई लाश को बरामद कर लिया। पुलिस घटना से जुड़े अन्य आर्रोपियों की तलाश कर रही है।

यह भी पढ़े: सीपी जोशी ने वापस ली सुप्रीम कोर्ट से याचिका, हाई कोर्ट के आदेश को दी थी चुनौती
यह भी पढ़े: आर्थिक मोर्चे पर भारत का चीन को एक और झटका, बैन किये 47 नए चीनी एप्स