हो सकते हैं बीमार खाने की आदतों में अचानक बदलाव से

आपकी खाने की आदतों में अचानक बदलाव से। इस बदलाव से आप मोटापे का शिकार भी हो सकते हैं। मौसम बदलने के साथ हमारे शरीर में भी बदलाव आते हैं। इसलिए जरूरी है कि अपनी सेहत बनाए रखने के लिए अपनी डाइट में भी कुछ बदलाव किए जाएं। ठंड में अक्सर लोग कम एक्सरसाइज़ करते हैं, लेकिन डाइट पुरानी ही रखते हैं जिससे फैट जमा होने की आशंका रहती है। ठंड में शरीर खुद को गर्म रखने के लिए ज्यादा ऊर्जा का इस्तेमाल करता है, जिससे ज्यादा भूख लगने लगती है। इसकी वजह से हम कभी-कभी ओवरइटिंग करने लगते हैं। मौसम बदलने पर होने वाली बीमारी सैड (सीजनल अफैक्टिव डिसऑर्डर) से पीडि़त डिप्रेशन से बचने के लिए ओवरइटिंग करते हैं। ठंड के मौसम के दौरान ही नया साल और क्रिसमस जैसे सेलिब्रेशन्स आते हैं, जिस दौरान होने वाली पार्टियों में कई लोग ओवरइटिंग करने लगते हैं और शराब का सेवन बढ़ जाता है।

जड़ों में पैदा होने वाली सब्जियां : गाजर, शलजम आदि ना सिर्फ पौष्टिक होती हैं, बल्कि ठंड सहने की क्षमता भी बढ़ाती हैं। इनसे सर्दी-जुकाम और फ्लू से बच सकते हैं।

ग्रीन टी : एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर ग्रीन टी भी बैक्टीरिया और वायरस से बचाती है। साथ ही, इससे आपकी रोगप्रतिरोधी क्षमता बढ़ती है।

लहसुन : यह शरीर को गरम बनाए रखता है और रोगों से लडऩे की क्षमता बढ़ाता है।

शहद : यह भी शरीर में गर्माहट बनाए रखने में मदद करता है। आप इसे गर्म दूध में शक्कर की जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

हरी सब्जियां : हरी सब्जियों में विटामिन ए, सी और के होते हैं, जो ठंड में काफी फायदेमंद होते हैं।

फल : संतरे और अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी होता है जो त्वचा के लिए लाभकारी है। साथ ही, इनसे मेटाबॉलिज्म अच्छा होता है और कॉलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है।
कार्बोहाइड्रेट्स : ठंड में सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाले भोजन जैसे चावल, ब्रेड आदि खाने की इच्छा होती है। ज्यादा मात्रा में इनका सेवन नुकसानदेह है। इनकी जगह प्रोटीन युक्त डाइट लेने की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें –

आंखें कुदरत का सबसे अनमोल रतन है, इनकी करें खास देखभाल