अचानक से चर्चा में आ गए बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, फिर ट्वीट कर ऐसे किया मामला शांत

मध्यप्रदेश से भाजपा के राज्यसभा उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया अचानक से सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गए। दरअसल, उनके बारे में ट्विटर पर चर्चा चली कि उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से बीजेपी का नाम हटा दिया है। इसका एक स्क्रीनशॉट अचानक से सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और राजनीतिक गलियारों में एक नई चर्चा शुरू हो गई। तमाम ख़बरों के बाद खुद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर अफवाहों पर विराम लगा दिया।

सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा ‘दुख की बात है कि सत्य के मुकाबले झूठी खबरें ज्यादा तेजी से फैलती हैं।’ दरअसल, सोशल मीडिया पर सिंधिया के ट्विटर हैंडल का एक स्क्रीन शॉट वायरल हो गया। जिसमें दावा किया गया कि सिंधिया ने अपने प्रोफाइल से बीजेपी नेता शब्द हटा लिया है। लेकिन यह महज एक अफवाह है क्योंकि सिंधिया ने कभी अपने ट्विटर हेंडल पर बीजेपी लिखा ही नहीं था। अब जब सिंधिया ने खबरों को गलत करार दिया तो मामला शांत हुआ।

बता दे सिंधिया के साथ ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले जब वो कांग्रेस में थे तो उन्होंने ट्विटर प्रोफाइल बदला था तो इस तरह की चर्चाएं शुरू हुई थी। कई लोग सिंधिया के सोशल मीडिया प्रोफाइल को लेकर राजनीतिक निशाने भी साधने लगे है। कई लोगों का कहना है कि कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने के बाद भी सिंधिया अपने प्रोफाइल में खुद को बीजेपी का बताने से क्यों कतरा रहे है ?

यह भी पढ़े: चीन के खिलाफ कैंपेन चलाने पर अमूल का ट्विटर एक्सेस हुआ ब्लॉक, आलोचना पर ट्विटर ने दी सफाई
यह भी पढ़े: चीन के सरकारी अखबार ने लिखा, हम नहीं छोड़ेंगे एक भी इंच जमीन, विवाद से नुकसान सिर्फ भारत को