छात्रों की समस्या को लेकर बिहार कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष से मिले सुशील मोदी

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने 2014 से पहले का नॉन क्रीमी लेयर सर्टिफिकेट मांगे जाने से छात्रों को हो रही परेशानी को लेकर आज बिहार कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष रवीन्द्र कुमार से मुलाकात की और उनसे छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर जल्द उचित रास्ता निकालने का आग्रह किया ।

श्री मोदी ने शनिवार को बिहार विधान परिषद के सदस्य डॉ. प्रमोद चंद्रवंशी के साथ आयोग के अध्यक्ष रवीन्द्र कुमार से मिलकर इंटर स्तरीय संयुक्त परीक्षा में 2014 से पहले का नॉन क्रीमी लेयर (एनसीएल) सर्टिफिकेट काउंसलिंग के समय मांगने के संबंध में बातचीत की और उन्हें छात्रों की समस्या से अवगत कराया। बाद में श्री मोदी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उन्होंने आयोग के अध्यक्ष से छात्रों के भविष्य को देखते हुए जल्द कोई उचित रास्ता निकालने का आग्रह किया है।

भाजपा सांसद ने कहा कि उक्त बहाली के विज्ञापन में आयोग ने कहीं भी इस बात का उल्लेख नहीं किया गया था कि 2014 से पूर्व का एनसीएल मान्य होगा जबकि काउंसलिंग के वक्त 2014 से पहले का सर्टिफिकेट मांगा जा रहा है। प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि आयोग द्वारा बीएसएससी सीजीएल 2 (सहायक), बीएसएससी ड्राइवर, स्टेनोग्राफर, एएनएम, बिहार एस.आई. में वर्तमान एनसीएल लिया गया है।

यह भी पढ़ें:-अगर आज हारी केकेआर तो बांधना पड़ेगा बोरिया बिस्तर, हैदराबाद का भी खेल हो सकता है खराब