छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में संदिग्ध नक्सलियों ने पुलिस कांस्टेबल की हत्या की

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में शिविर से भागे छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के जवान की हत्या कर दी गई है। पुलिस ने इसके पीछे नक्सलियों का हाथ होने की आशंका जताई है। जवान की हत्या की जानकारी दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्ल्व ने मंगलवार को दी। उन्होंने बताया कि जिले के बोदली और कड़ेमटा गांव के मध्य जंगल से पुलिस ने छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के हवलदार कनेश्वर नेताम (32) का शव बरामद किया है।

पल्लव ने बताया कि मृतक जवान छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के 22वीं बटालियन का सदस्य था। उसका नाम नेताम था, जिसका पिछले महीने उसके गृह जिले कांकेर से बोदली शिविर में तबादला किया गया था। पुलिस अधिकारी के मुताबिक नेताम का तबादला होने के बाद वह 25 अगस्त को बोदली शिविर आया तथा 28 अगस्त को वह बिना किसी को जानकारी दिए कहीं चला गया और फिर वापस नहीं लौटा। अंततः उसकी हत्या होने की जानकारी ही सामने आई।

अधिकारी ने बताया कि जवान के लापता होने के बाद उसकी खोज शुरू की गई। इस दौरान पुलिस दल को जानकारी मिली कि लापता जवान ने घोटिया गांव में किसी के घर में खाना खाया था। इसके बाद उस जवान को किसी ग्रामीण ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के मालेवाही गांव स्थिति शिविर तक पहुंचाया। लेकिन नेताम शिविर तक नहीं गया और वहां से भाग गया। पुलिस ने नेताम की हत्या नक्सलियों द्वारा की जाने की आशंका जाहिर की है।

यह भी पढ़े: एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने मीडिया के खिलाफ दर्ज कराई मुंबई पुलिस से शिकायत
यह भी पढ़े: IPL छोड़ भारत लौटे ऑलराउंडर सुरेश रैना ने भाई के हत्यारों के लिए मांगा इंसाफ

Loading...