स्वामी प्रसाद की गलतफहमी 10 मार्च के बाद हो जायेगी दूर: कुशवाहा

उत्तर प्रदेश विधानसभा के शंखनाद के साथ ही नेताओं के बीच दल बदलने को लेकर मची भगदड़ में प्रदेश सरकार में मंत्री पद छोड़ साइकिल की सवारी करने पहुंचे स्वामी प्रसाद मौर्य को शुक्रवार को आड़े हाथ लेते हुए कुशवाहा समाज के पूर्व अध्यक्ष और अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान के उपाध्यक्ष हरगोविंद कुशवाहा ने कहा कि 10 मार्च को श्री मौर्य की सारी गलतफहमियां दूर हो जायेंगी।

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद प्रदेश सरकार पर जबरदस्त तरीके से हमलावर हुए स्वामी प्रसाद को उन्हीं के अंदाज में जवाब देते हुए प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री हरगाेविंद कुशवाहा ने कहा, “ऐसे हजारों स्वामी मौर्य के चले जाने पर भी भाजपा का कुछ नहीं बिगड़ने वाला। यदि वह किसी का कुछ बना या बिगाड़ सकते तो अपने बेटे को दो बार से ऊंचाहार का विधायक न बना लेते जिसको टिकट न देने पर भाजपा छोड़कर गए हैं।

भारतीय जनता पार्टी संसार के सभी राजनीतिक दलों में सबसे बड़ी पार्टी है, उसे महासागर की संज्ञा दी जाती है। समुद्र में कितने जीव इधर से उधर होते हैं, क्या कभी महासागर पर कोई प्रभाव पड़ता है।” उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद की लड़की, जो बिधूना की सांसद हैं, ने भी उनकी निन्दा की है। उनका लड़का ऊंचाहार से टिकट मांग रहा था,भाजपा ने नहीं दिया। पिछले दो बार से वह हार रहा है, तीसरी बार भी उसी को विधायक बनाना चाहते थे। जब टिकट नहीं मिला तो पार्टी छोड कीचड़ उछाल रहे हैं।

उन्होंने कहा,“ भाजपा ने उनके पूरे परिवार को सम्मान दिया, उनकी बेटी को सांसद बनाया। स्वयं उन्हें कैबिनेट मंत्री और परिवार को भी बहुत सहयोग किया, इसके बावजूद भी कुछ कमी रह गई थी। उन्हें अपना चरित्र देखना चाहिए। मौर्य जी को यह गलतफहमी है कि वह किसी को बना या बिगाड़ सकते हैं। जब वह अपने लड़के को चुनाव नहीं जिता पाए तो दूसरे को क्या बनाएंगे और बिगाड़ेंगे।”

कुशवाहा ने कहा, “ मैं 12 वर्ष तक कुशवाहा समाज का राष्ट्रीय अध्यक्ष रहा हूं । मैंने तो कभी नहीं कहा कि मैं बनाता हूं या किसी को बिगाड़ता हूं। आप भी देख लेना र्मार्य जी को जो गलतफहमी है वह 10 मार्च के बाद दूर हो जाएगी। उसके बाद आपसे मिलूंगा बताऊंगा कि मौर्य जी का फैसला गलत है।”

उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने बयान दिया कि मुझे जेपी नड्डा,अमित शाह, गडकरी जी,नरेंद्र मोदी जी, योगी जी, केशव प्रसाद मौर्य,व बंसल में से किसी से कोई शिकायत नहीं है। यदि शिकायत नहीं थी तो क्या ब्लैकमेल करने को यह सब कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि यह मायावती की पार्टी नहीं जहां जातिवाद चलता है, यह भाजपा है। देश मे इसके 10 करोड़ सदस्य हैं। भारतीय जनता पार्टी सिद्धांत की पार्टी,राष्ट्रवादी पार्टी, आध्यात्मिक पार्टी और करीने से चलने वाली पार्टी है। इसलिए उनका यह कहना कि पार्टी उनसे है उनके व्यक्तित्व को हल्का बनाती है।कुशवाहा ने दावा किया कि बुंदेलखंड समेत प्रदेश में 300 से अधिक सीटें जीतकर भाजपा पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी।

यह भी पढ़े: कश्मीर में मानवाधिकार कार्यकर्ता गिरफ्तार