पैरों से आता है पसीना, तो ऐसे करें उसे नियंत्रित

गर्मी के मौसम में यूं तो पसीना आना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। लेकिन कुछ लोगों को पसीना काफी अधिक आता है और यह सिर्फ उनके चेहरे या बगल पर ही नहीं आता, बल्कि ऐेसे लोगों को पैरों में भी पसीने की परेशानी होती है, जिसके कारण वह काफी परेशान रहते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो आप इन उपायों के जरिए पैरों के तलवे में आने वाले पसीने को नियंत्रित कर सकते हैं-
फिटकरी पसीने को काफी हद तक नियंत्रित करती है। दरअसल, इसमें एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होता है, जिसका इस्तेमाल करने से पैरों में पसीना आने की समस्या दूर हो सकती है। इसके अलावा आप फंगल इंफेक्शन से भी बचे रह सकते हैं। इसके लिए आप एक चम्मच फिटकरी पाउडर को गुनगुने पानी में डालकर 15-20 मिनट तक पैरों को उसमें डुबोकर रखें। इससे पैरों में पसीना और बदबू दोनों की समस्या दूर हो जाएगी।
एक टब में गुनगनुा पानी डालें और उसमें पांच से सात चम्मच नमक डालकर पैरों को उसमें आधे घंटे तक डुबोकर रखें। पानी से पैर निकालने के बाद उसे पोछे नहीं बल्कि अपने आप सूखने दें। फिर मोजा पहनें। दरअसल, नमक का पानी त्वचा को सूखा बनाता है साथ ही पसीना आने से भी रोकता है।
आपको शायद पता न हो लेकिन तेजपत्ता भी पैरों से आने वाले पसीने से निजात दिला सकता है। इसके लिए थोड़े से तेज पत्तों को पानी में अच्छे से उबाल लें और जब पानी ठंडा हो जाए तो इसे पैरों पर लगाएं। प्रतिदिन ऐसा करने से पसीना आना बंद हो जाएगा।
पैरों की सफाई के लिए एप्पल साइड विनेगर बेहतरीन विकल्प है। गुनगनुे पानी में आधा कप एप्पल विनेगर डालकर उसमें पैरों को थोड़े समय के लिए डुबोकर रखें। इससे पैरों की बदबू खत्म तो होती है है। पैरों के कीटाणु भी खत्म हो जाते हैं। साथ ही फंगल इंफेक्शन जैसी समस्या भी ठीक हो जाती है।

यह भी पढ़ें:

डायबिटीज जैसे गंभीर रोग से बचने के लिए जानिए इन बातों का रखे ध्यान

इन उपायों की मदद से आप बच सकते है माइग्रेन की गंभीर बीमारी से