छाती में दर्द और चक्कर हो सकते हैं लो बीपी के लक्षण, निजात पाने के लिए करें कॉफी का सेवन

आज की इस भागदौड़ भरी और अनियमित जीवनशैली में हर कोई किसी न किसी तरह के तनाव से पीड़ित है। इस कारण इर्रेगुलर ब्लड प्रेशर की समस्या बेहद आम बन चुकी है। लो बीपी यानि कि हाइपोटेंशन भी उच्च रक्तचाप की तरह ही खतरनाक है। बता दें कि अगर आपके बीपी की रीडिंग 90 और 60 के करीब है, तो आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या है। धड़कनों का कम ज्यादा होना, चक्कर आना और धुंधला दिखाई पड़ना लो बीपी के आम लक्षण हैं। ज्यादातर लोग हाई ब्लड प्रेशर को ही खतरनाक मानते हैं जबकि रक्तचाप लो हो या हाई दोनों ही आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार 3 से 4 दिनों तक अगर लगातार आपका बीपी 90/60 रहता है तो आप इन घरेलू उपायों को अपना सकते हैं-

कॉफी: लो बीपी को अगर तुरंत कंट्रोल करना है तो कॉफी का सेवन एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार कॉफी में मौजूद कैफीन रक्तचाप के स्तर को नॉर्मल करने में मददगार साबित हो सकते हैं। हालांकि, मरीजों को सीमित मात्रा में ही कॉफी पीनी चाहिए क्योंकि इसके अधिक सेवन से डिहाइड्रेशन की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

पीते रहें पानी: गर्मी के मौसम में ब्लड प्रेशर लो होने की समस्या अधिक देखने को मिलती है क्योंकि पसीने के जरिये नमक शरीर से बाहर निकलने लगता है। ऐसे में डॉक्टर्स हाइड्रेटेड रहने की सलाह देते हैं। इसलिए लो बीपी की समस्या से पीड़ित लोगों को रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए।

बढ़ाएं सोडियम की खुराक: लो बीपी के मरीजों के शरीर में सोडियम पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहे ये बेहद जरूरी है। इन मरीजों के लिए नमक वाला पानी भी फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद सोडियम रक्तचाप बढ़ाने में मदद करता है। लो ब्लड प्रेशर होने पर एक गिलास पानी में आधा चम्मच नमक डालकर पी सकते हैं। इसके अलावा, नमक, चीनी और पानी का घोल भी ब्लड प्रेशर को नॉर्मलाइज करने में सक्षम माना जाता है।

कम करें कार्ब्स का सेवन: कार्बोहाइड्रेट्स पेट में जाकर जल्दी ब्रेक डाउन हो जाते हैं, जिससे कार्ब्स युक्त भोजन आसानी से पच जाते हैं। इससे रक्तचाप का स्तर अचानक से गिर सकता है जो कि मरीजों के लिए खतरनाक हो सकता है। ऐसे में कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन इन मरीजों को कम करना चाहिए।

यह भी पढ़े-

प्रेग्नेंसी में गिलोय का सेवन है खतरनाक, ये 5 साइड इफेक्ट भी जान लीजिए