अलसी के बीजों से बने काढ़े का करें सेवन, बीमारियों के इलाज में करता है मदद

अलसी के बीज मनुष्य द्वारा खाये जाने वाले अब तक के सबसे पुराने खाद्य पदार्थों में से एक हैं। आज अलसी पूरे विश्व में विभिन्न प्रकार के व्यंजनों को बनाने के लिए लगातार इस्तेमाल की जाती है। इसका अखरोट जैसा स्वाद और सुगंध बहुत सारे लागों द्वारा बहुत पसंद किया जाता है।

अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। अलसी के बीज की लोकप्रियता के पीछे का कारण इसके पोषक एवं कई सारे स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने वाले तत्व भी हैं। अलसी के बीजों से बने काढ़े का नियमित रूप से सेवन कई बीमारियों के इलाज में बहुत ही फायदेमंद होता है।

कैसे तैयार करें काढ़ा –

काढ़ा बनाने के लिए थोड़े से अलसी के बीजों को पानी में मिलाकर उबलने के लिए रख दे। इसे तब तक उबाले जब तक यह पानी आधा ना रह जाये। इसे छान लें और थोड़ा ठंडा होने पर पिएं।

अलसी के फायदे –

अगर आपको डायबिटीज या ब्लड शुगर की बीमारी है तो आपके लिए यह काढ़ा बहुत फायदेमंद होगा। रोज सुबह खाली पेट इस काढ़े को पीने से शरीर में शुगर का लेवल कण्ट्रोल में रहता है।

थाइरॉएड की समस्या में सुबह खाली पेट अलसी का काढ़ा पीने से थाइराइड कण्ट्रोल में रहता है।

दिल से जुडी किसी भी बीमारी में अलसी के काढ़े का सेवन किया जा सकता है। इसे पीने से आर्टरीज में ब्लॉकेज दूर होता है और आपको एंजियोप्लास्टी कराने की जरूरत नहीं पड़ती है।