सेहत के लिए फायदेमंद होता है समय के अनुसार दवाई लेना

Mouth of woman taking rose covered medicine

आए दिन हम लोगों को पेन किलर से पाला पड़ता रहता है। काम के अत्यधिक बोझ या किसी तनाव के कारण सिरदर्द, बदन दर्द हो अथवा किसी गंभीर बीमारी के चलते परेशानी, हर सूरत में जिस एक चीज की याद आती है वह है सिर्फ पेन किलर। ऐसे में लोग दर्द से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए बिना सोचे समझे पेनकिलर दवाओं का सेवन कर लेते हैं जिससे उस समय के लिए तो दर्द पूरी तरह छूमंतर हो जाता है लेकिन इन पेनकिलर दवाओं से शरीर को बहुत अधिक नुकसान पहुंचता है।

• कुछ दवाएं पानी में बहुत जल्दी घुलती हैं, ऐसी दवाओं को खाने से पहले लेना बहुत सही होता है क्योंकि खाना खाने के बाद ये दवाएं लेने पर खाने के साथ मिलकर घुलने में बहुत समय ले लेती हैं जिससे इनका पूरा असर नहीं हो पाता।

• ये दवाएं पेट में एसिडिटी और अल्सर की गंभीर समस्या पैदा कर सकती हैं इसलिए इन्हें खाली पेट लेने की बजाए खाने के कुछ समय बाद पूरी तरह लिया जाता है। दर्दनिवारक दवाओं के अलावा बीमारी को ठीक करने वाली ऐसी कई सारी दवाएं होती हैं जो अल्सर और एसिडिटी कर सकती हैं इसलिए इन सभी दवाओं को खाने के बाद ही लिया जाता है।

• वहीँ कुछ ऐसी दवाएं भी होती हैं जिन्हें खाने से आधे घंटे पहले लेने को कहा जाता है क्योंकि ऐसी दवाओं का असर इन्हें लेने के आधे से एक घंटे के बीच पूरी तरह होता है और खाने से आधे घंटे पहले ये दवा ले लेने से अमाशय पूरी तरह एक्टिव हो जाता है।

यह भी पढ़ें:

सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है कच्चा पपीता, जानिए इसके फायदे

बालों से जुड़ी सभी समस्याओं का रामबाण इलाज है आलू का रस, जानिए लगाने का तरीका