लिवर को हेल्दी रखने में मददगार है इमली, जानिये कैसे और कितना खाना होगा फायदेमंद

ह्यूमन बॉडी का दूसरा सबसे बड़ा अंग लिवर है। जितना भी खाना और पेय पदार्थ का सेवन हम करते हैं, उसे लिवर प्रोसेस करने के बाद उसमें मौजूद सभी टॉक्सिन्स को फिल्टर कर देता है। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही, अनियमित जीवन-शैली व अनहेल्दी खानपान से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का लोगों को सामना करना पड़ता है। फैटी लिवर भी इन्हीं बीमारियों में से एक है। गलत खानपान व अनहेल्दी आदतों के कारण होने वाली इस बीमारी में फैट की मात्रा बढ़ने के वजह से लिवर में सूजन आने लगती है और वो सिकुड़ने लगता है। आमतौर पर लिवर के आसपास हमेशा ही फैट जमा रहता है लेकिन जब इसके सेल में बहुत अधिक फैट जमा हो जाता है तो फैटी लिवर की समस्या हो जाती है। ऐसे में लिवर को हेल्दी और रोगों से दूर रखने में इमली का सेवन मददगार साबित हो सकता है। आइए जानते हैं-

फैटी लिवर के लिए है असरदार: कई शोध इस बात को प्रमाणित करते हैं कि फैटी लिवर के मरीजों के लिए इमली रामबाण साबित हो सकती है। इमली में कई तरह के फाइबर मौजूद होते हैं जो खाना पचाने में मददगार होते हैं। इसमें पॉलीफेनॉल्स होते हैं जिनमें एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं। इसके पत्तों में पाचन क्रिया को मजबूत करने वाले तत्व मौजूद होते हैं। साथ ही, इमली के बीज में सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं जिससे लिवर को हेल्दी रखने में मदद मिलती है। वहीं, इमली के पल्प यानि कि गुदा खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है। बता दें कि मोटापा से पीड़ित लोगों को इस बीमारी का खतरा अधिक होता है।

क्या है इस्तेमाल का तरीका: इस स्वास्थ्य समस्या से निजात पाने के लिए लोग 2 मुट्ठी के करीब छिली हुई इमली ले लें। उसमें 1 लीटर पानी और 1 चम्मच शहद मिला दें। अब इसे मिक्सर में अच्छे से ब्लेंड कर लें। इसके उपरांत आप इस ड्रिंक का सेवन कर सकते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार 7 से 10 दिनों तक इसके रोजाना इस्तेमाल से बेहतर परिणाम मिलेंगे।

पत्तों को ऐसे करें यूज: इमली के करीब 20 ताजा पत्ते और 1 लीटर पानी ले लें। सबसे पहले पत्तों को अच्छी तरह धोकर साफ कर लें। अब एक बड़े बर्तन में 1 लीटर पानी डालकर गैस पर चढ़ा दें और उसमें इन पत्तों को भी गिरा दें। धीमी आंच पर कम से कम आधा घंटा पकाएं। इसे छानकर ठंडा होने दें और फिर इसका सेवन करें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार लगभग 30 से 40 दिनों तक इसके नियमित सेवन से मरीजों को लाभ मिल सकता है।

यह भी पढ़े-

ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए फायदेमंद है कीवी, तनाव दूर करने में भी सक्षम – जानिये