Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / खुशी हो या गम चाय का साथ रहता है हरदम

खुशी हो या गम चाय का साथ रहता है हरदम

भारत में चाय का सेवन करने वाले बड़ी तादाद में पाए जाते हैं। दार्जिलिंग मे अंग्रेजों द्वारा शुरु किए गए चाय के बागान आज दुनिया भर में अपनी पहचान बना चुके हैं। भारत मे सबसे ज्यादा पेय पदार्थ पीने के रूप में चाय ने अपनी पहचान बनाई है।

Loading...

भारत में चाय के बागानों की शुरुआत अंग्रेजों ने की थी। इंग्लिश लोगों में चाय एक शौकियाना तौर पर पिया जाने वाला पेय था। हाई प्रोफाइल लोगों में चाय एक लोकप्रिय पेय पदार्थ था, लेकिन बहुत चुनिंदा और कम लोग ही इसका उपयोग करते थे।

लेकिन भारत में आने के बाद यह आम हो गई और आज भारत के हर घर की शुरुआत चाय से होती है। भारत में सुबह हो या शाम, चाहे खुशी हो या गम, Office  हो या घर, सब जगह चाय से शुरुआत होती है।

भारत के राज्य, शहर, तहसील, गांव हो या ढाणी हर जगह चाय की स्टॉल मिलेगी, लाखों लोग आज चाय बेचकर अपनी अजीविका चला रहे हैं ओर इसे रोजगार का साधन बनाकर अपना जीवन यापन कर रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *