Diabetes में राहत पहुंचाएगी इस फल से बनी चाय, हर चुस्की में छिपा है ब्लड शुगर कंट्रोल करने का राज

Indian gooseberry juice on the wooden floor

Indian Gooseberry Tea For Diabetes: डायबिटीज एक ऐसा मेडिकल कंडीशन है जिसका पुख्ता इलाज वैज्ञानिक अब तक नहीं खोज पाए हैं, हालांकि कुछ खास चीजों की मदद से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल किया जा सकता है, इनमें से एक है आंवला की चाय. आंवला का इस्तेमाल हम अक्सर बालों की सेहत बेहतर करने के लिए करते हैं, लेकिन इससे कैंसर, किडनी डिजीज और दिल की बीमारियों का भी कम हो जाता है. ग्रेटर नोएडा के GIMS अस्पताल में कार्यरत मशहूर डाइटीशियन डॉ. आयुषी यादव (Dr. Ayushi Yadav) ने बताया कि आंवला की चाय मधुमेह के रोगियों के लिए क्यों फायदेमंद है.

आंवले में पाए जाने वाले न्यूट्रिएंट्स
आंवला (Indian Gooseberry) एक ऐसा फल जिसे सुपरफूड कहा जाता है. इसमें आयरन, विटामिन सी, कार्बोहाइड्रेड, फॉस्फोरस, फाइबर, कैल्शियम और प्रोटीन जैसे कई अहम न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं. जो सेहत को कई तरह के फायदे पहुंचाते हैं. आंवला को आर्युवेद का खजाना कहा जाता है और इसका इस्तेमाल औषधि की तरह होता है.

डायबिटीज में क्यों फायदेमंद है आंवला
आंवला (Indian Gooseberry) में एंटी डायबिटिक प्रॉपर्टीज पाई जाती है जिससे ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल करने में मदद मिलती है. इसमें मौजूद फाइबर ब्लड फ्लो में ग्लूकोज को धीरे-धीरे रिलीज करने का काम करते हैं. चूंकि आंवला में विटामिन सी पाया जाता है इसलिए ये मधुमेह के रोगियों के लिए आदर्श फूड है. इसके अलावा आंवले से क्रोमियम नामक मिनरल मिलता है जो ग्लूकोज और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में कारगर है.

डायबिटीज के मरीज जरूर पिएं आंवले की चाय
अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आंवला की चाय आपके लिए किसी रामबाण से कम नहीं है. हालांकि आंवले को कच्चा खाना, सेंधा नमक मिलाकर खाना, पाउडर की तरह पीसकर, आंवला जूस भी फायदे का सौदा साबित होगा.

आंवले की चाय बनाने का तरीका
-सबसे पहले आप एक बर्तन में 2 कप पानी डालें और उबाल लें
-अब इसमें एक चम्मच आंवला पाउडर और क्रश किया हुआ अदरक मिक्स करें
-अब पुदीने की ताजी पत्तिया डालें और कुछ मिनट के लिए उबाल लें
-फिर चाय को छानकर कप में सर्व करें और पी जाए

शरीर का ये हिस्सा पड़ने लगा है पीला तो हो जाएं अलर्ट, कहीं डायबिटीज का इशारा तो नहीं