बर्मिंघम टेस्ट हारी तो WTC Points Table में टीम इंडिया को होगा भारी नुकसान, टॉप-3 से हाथ धोना पड़ेगा

रोहित शर्मा कप्तान के रूप में अपने पहले विदेशी टेस्ट में कड़ी चुनौती का सामना करने वाले हैं। बर्मिंघम में भारत को इंग्लैंड के खिलाफ एक से पांच जुलाई तक अपना पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच खेलना है। भारत के पास न केवल एक ऐतिहासिक सीरीज जीतने का मौका है

बल्कि यह मैच आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल की दौड़ में बने रहने लिए भी बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है। इंग्लैंड के हाथों बर्मिंघम टेस्ट हारने पर टीम इंडिया आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की अंकतालिका में चौथे स्थान पर खिसक सकती है।

भारतीय कोच राहुल द्रविड़ भी पहले ही यह कह चुके हैं कि बर्मिंघम में जीत भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने हाल में कहा था, ‘एजबेस्टन में मैच सीरीज के साथ-साथ WTC Points Table के संदर्भ में हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा। हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे।

डब्ल्यूटीसी पॉइंट टेबल में भारत की स्थिति बहुत हद तक श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया  के बीच होने वाले पहले टेस्ट मैच के रिजल्ट पर भी निर्भर है। भारत अभी आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की अंकतालिका में तीसरे स्थान पर है। भारत के 58.33 फीसदी जीत प्रतिशत है।

वहीं, श्रीलंका 55.56 जीत प्रतिशत और 40 अंकों के साथ चौथे नंबर पर है। श्रीलंका को अगर घर में जीत मिलती है और भारत अगर हार जाता है, तो श्रीलंकाई टीम भारत से प्रतिशत अंक के आधार पर तीसरे स्थान पर पहुंच जाएगी। श्रीलंकाई टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ स्पिन-अनुकूल पिच पर घर में जीतने की कोशिश करेगी क्योंकि ऑस्ट्रेलिया पिछले डेढ़ दशक में एशिया में केवल 3 टेस्ट मैच ही जीत पाया है।

भारत अगर इंग्लैंड के खिलाफ जीतती है तो इस बात की पूरी गारंटी होगी कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रीलंका के परिणाम के बावजूद वे तीसरे स्थान पर कायम रहेगा। भारत अगर जीतता है और श्रीलंका अगर हारता है तो भारत डब्ल्यूटीसी तालिका में अपने स्थान पर कायम रहेगा जबकि ऑस्ट्रेलिया डब्ल्यूटीसी स्टैंडिंग में शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत कर लेगी।

यह पढ़े: पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने किया स्वीकार, विश्व क्रिकेट पर है भारत का दबदबा