टेक महिंद्रा का चौथी तिमाही लाभ 39 प्रतिशत वृद्धि के साथ 1506 करोड़ रुपये

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र की प्रमुख कंपनी टेक महिंद्रा ने वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 39.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1,506 करोड़ रुपये का समेकित शुद्ध लाभ दर्ज किया। इस तिमाही में इससे पिछले वित्त वर्ष की तुलना में कंपनी का राजस्व 24.5 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,116 करोड़ रुपये रहा।

टेक महिंद्रा ने शुक्रवार को जारी विज्ञप्ति में बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में कंपनी का परिचालन लाभ (एबिटडा) एक साल पहले की तुलना में 7.2 प्रतिशत और इससे ठीक पिछली वाली तिमाही की तुलना 1.4 प्रतिशत बढ़कर 2,088 करोड़ रुपये रहा। कंपनी ने 31 मार्च 2022 को समाप्त वित्त वर्ष में 17.9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 44,646 करोड़ रुपये का राजस्व दिखाया है। वर्ष के दौरान कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ इससे पिछले वित्त वर्ष की तुलना 25.7 प्रतिशत बढ़कर 5,566 करोड़ रुपये रहा। वर्ष के दौरान कंपनी का प्रति शेयर लाभ 62.8 रुपये रहा।

टेक महिंद्रा के निदेशक मंडल ने वर्ष 2021-22 के लिए प्रति शेयर 30 रुपये की दर से अतिरिक्त लाभांश देने का प्रस्ताव किया है। कंपनी ने इससे पहले पांच रुपये के अंकित मूल्य वाले शेयर पर 15 रुपये की दर से एक अंतरिम लाभांश घोषित किया था। इस तरह वर्ष के दौरान कुल लाभांश 45 रुपये प्रति शेयर होगा। वर्ष के दौरान कंपनी का परिचालन लाभ 8,020 करोड़ रुपये था जो एक साल पहले से 17 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2021-22 में कंपनी का कुल मुक्त नगदी प्रवाह 4,417 करोड़ रुपये रहा।

टेक महिंद्रा के प्रबंध निदेशक और मुख्य अधीशासी सी पी गुरनानी ने कहा, “ हमारे प्रदर्शन में सुधार मनुष्यों पर केंद्रित अनुभवों, नवप्रवर्तन पर विशेष ध्यान और ग्राहकों एवं भागीदारों का एक मजबूत तंत्र सृजित करने की हमारी क्षमता शक्ति को दर्शाता है।” कंपनी के मुख्य वित्त अधिकारी ने कहा कि लाभ के हिसाब से हमारी आधारभूत संरचना मजबूत है और हमें विश्वास है कि हम पूंजी पर मजबूत प्रतिफल के लक्ष्य की प्रतिबद्धता के साथ हम अपनी प्रगति आगे भी जारी रखेंगे।

यह भी पढ़े: बैंक ऑफ बड़ौदा का चौथी तिमाही में शुद्ध लाभ 1,779 करोड़