तेजप्रताप ने पूर्व पार्टी उपाध्यक्ष और राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को उनकी औकात बताई

राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की नाराजगी को बहुत हल्के में लेते हुए तेजप्रताप यादव ने कहा कि “समुद्र से एक लोटा पानी निकल ही जाये उससे क्या फर्क पड़ेगा”। लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने ये साफ़ कर दिया है कि अब पार्टी के बड़े नेता रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्टी छोड़ना तय है।

पार्टी आलाकमान कि तरफ से उनको मनाने की तमाम कोशिश की गयी। अब जब सबकी कोशिशे नाकाम हो रही है तो पार्टी के नेता उनपर आरोप लगन शुरू कर दिये है। तेजप्रताप ने स्पष्ट कर दिया कि राजद  समुद्र है और रघुवंश प्रसाद सिंह की हैसियत एक लोटा पानी भर का हैं।

अगर एक लोटा निकाल भी जाए तो जैसे समुद्र पर कोई असर नहीं पड़ेगा वैसे ही पार्टी से उनके निकल जाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। हालांकि आगे उन्होंने यह भी कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह पार्टी के वरिष्ठ और पुराने वफादार नेता है, उनको मनाने की पूरी कोशिश हो रही है और वो मान भी जायेंगे। पार्टी को उनपर भरोसा है।

ध्यान देने योग्य बात है कि राजद  के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले कुछ महीनों से नाराज चल रहे हैं। पूर्व सांसद रामा सिंह को राजद में शामिल कराने के तेजस्वी के निर्णय से रघुवंश बाबू बहुत नाराज चल रहे हैं। रघुवंश प्रसाद सिंह को जैसे ही इस बात की जानकारी लगी कि रामा सिंह को राजद में शामिल कराया जा रहा है इसके बाद तत्काल उन्होंने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया।

गौरतलब है कि नाराज रघुवंश प्रसाद सिंह को जेडीयू अपने पाले में करने की कोशिश कर रहा है। जदयू इस मौके को अपने पक्ष मे भुनाना चाहता है। जेडीयू ने रघुवंश प्रसाद सिंह को ओपेन ऑफर दिया है। मंत्री जय कुमार सिंह ने ऑफर देते हुए कहा कि अगर रघुवंश बाबू हमारे साथ आते हैं तो उनका जदयू मे स्वागत है।

यह भी पढ़ें:

पप्पू यादव ने कहा- “बिहार को विकसित और स्वच्छ राज्य बनायेंगे”

एनडीए में सीटों के बंटवारे का कभी भी हो सकता है ऐलान, सीट बँटवारे का गणित तैयार