तेजस्वी ने ‘मलिक हत्याकांड’ मे आरोप लगाने पर नीतीश से माफी मांगने को कहा

बिहार मे विधानसभा चुनाव का महापर्व शुरू हो चुका है। इसी दौरान महागठबंधन में मुख्यमंत्री चेहरा तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चेताते हुए माफी मांगने के लिए कहा है। दरअसल तेजस्वी राजद के पूर्व नेता शक्ति मलिक की हत्या के मामले में तेजस्वी और तेजप्रताप का नाम घसीटे जाने को लेकर बात कर रहे थे। तेजस्वी ने कहा कि मेरे उपर अभी तक कोई दाग नहीं है लेकिन नीतीश कुमार ऐसा करने की कोशिश कर रहे हैं। नीतीश माफी मांगे नहीं तो मैं उनके उपर मानहानि का केस करूंगा। शक्ति मलिक हत्याकांड को लेकर मृतक की पत्नी ने भी तेजस्वी, तेजप्रताप और अन्य राजद नेताओं पर आरोप लगाया है लेकिन बिहार ​पुलिस नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव एवं तेज प्रताप यादव समेत सभी नामजद छह राजद नेताओं क्लीन चिट दे चुकी है।

गौरतलब हो कि शक्ति मलिक की पत्नी के बयान के आधार पर तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, अनिल साधु, कालो पासवान, सुनीता देवी और मनोज पासवान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। राजद नेता रहे शक्ति मलिक की हत्या और उस पर हो रही बयानबाजी को राजनीतिक षडयंत्र बताते हुए तेजस्वी यादव ने पूर्णिया में राजद के पूर्व नेता शक्ति मलिक की हत्या को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखा जुबानी हमला किया। तेजस्वी ने कहा कि “इस केस में हम दोनों भाइयों का नाम घसीटना बिहार सरकार की सोची समझी साजिश थी। इस मामले में मेरा नाम घसीटा गया। मैं प्रदेश का उप मुख्यमंत्री भी रह चुका हूं लेकिन आज तक मेरे ऊपर कोई दाग नहीं लगा। नीतीश कुमार ने मुझ पर और मेरे भाई पर झूठा आरोप लगाया है। यह एक राजनीतिक षडयंत्र है।”

आपको बताते चले कि केहाट थाना क्षेत्र में रविवार सुबह नकाबपोश अपराधियों ने दलित नेता शक्ति मलिक के घर में घुसकर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी। इस मामले में तेजस्वी प्रसाद यादव एवं तेजप्रताप यादव सहित कुल छह लोगों के खिलाफ केहाट थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। मृतका की पत्नी का कहना था कि राजद से निकाले जाने के बाद शक्ति मलिक निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे।

Loading...