डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है तेजपत्ता, जानिए इस्तेमाल का तरीका

Arrangement of bay leaves in various shades of green

डायबिटीज को जड़ से खत्म करना संभव नहीं है लेकिन इसे नियंत्रण में रखकर लोग नॉर्मल जिंदगी जी सकते हैं। डायबिटीज एक जीवन शैली से जुड़ी हुई बीमारी है, इससे ग्रसित मरीजों को अपने लाइफस्टाइल का बेहद ख्याल रखना चाहिए। खाने-पीने से लेकर सोने-जगने तक का समय बंधा हुआ रहना चाहिए। WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में डायबिटीज 7वीं सबसे गंभीर बीमारी है। सरकारी आंकड़ों की मानें तो भारतीय व्यस्कों में 12 से 18 प्रतिशत डायबिटीज का खतरा बढ़ा है। ये आंकड़ा शहरी इलाकों में अधिक देखने को मिलता है। बेहतर लाइफस्टाइल के साथ ही कुछ घरेलू उपाय भी मधुमेह बीमारी को कंट्रोल करने में कारगर हैं। तमाम औषधीय गुणों से भरपूर तेजपत्ता भी डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है, आइए जानते हैं कैसे-

स्वाद के साथ सेहत भी बढ़ाए: तेज पत्ता जिसे मालाबार पत्ता भी कहा जाता है, सेहत की दृष्टि से बेहद लाभदायक है। एंटी-ऑक्सीडेंट, कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन का पर्याप्त भंडार होता है तेज पत्ता। इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार हो सकता है। इसके इस्तेमाल से शरीर में इंसुलिन का फ्लो बेहतर होता है। एक शोध के अनुसार जो मरीज लगातार एक महीना 1 से 3 ग्राम तेजपत्ता खाने से डायबिटीज कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

मेटाबॉलिज्म को करता है मजबूत: डायबिटीज के मरीजों के शरीर में अनियमित इंसुलिन के कारण मेटाबॉलिज्म भी प्रभावित होती है। तेज पत्ता खाने से मेटाबॉलिज्म सुधरता है जिससे पाचन क्रिया भी बेहतर होती है। तेजपत्ता पाचन क्रिया को दुरुस्त करने में काफी कारगर हो सकता है। चाय में तेजपत्ते का इस्तेमाल कर कब्ज, एसिडिटी और पेट में मरोड़ जैसी समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। इसके अलावा, इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी कंट्रोल में रहता है।

अच्छी नींद लाने में करता है मदद: डायबिटीज के स्तर कम नींद लेना भी प्रभावित करता है, ऐसे में जब आजकल की जीवनशैली की वजह से अनिद्रा से हर दूसरा आदमी परेशान है। तो तेज पत्ता खाने से नींद नहीं आने की परेशानी दूर हो सकती है। ज्यादा स्ट्रेस और टेंशन के कारण लोग अनिद्रा का शिकार हो जाते हैं जिससे शरीर में स्ट्रेस हार्मोन का अधिक उत्पादन होने लगता है और ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ता है।

कैसे करें इस्तेमाल: ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार खाने में तेजपत्ते का सेवन करने के अलावा सोने से पहले तेजपत्ते के तेल की कुछ बूंदों को पानी में मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है। इसके अलावा, डायबिटीज से पीड़ित लोगों को नियमित रूप से अपना खाने में तेजपत्ते का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा उबालकर नियमित रूप से इसका सेवन करने से भी मधुमेह पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

यह भी पढ़े-

ज्यादा सोयाबीन चंक्स खाने से भी बढ़ सकता है यूरिक एसिड, इन परेशानियों को भी देता है बुलावा