पुरी रथ यात्रा की तैयारियों में जुटा मंदिर प्रशासन

जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) ने एक जुलाई को होने वाली भगवान जगन्नाथ, उनके बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा की वार्षिक रथ यात्रा के लिए तीन रथों के निर्माण की प्रक्रिया आरंभ कर दी है।

मंदिर सूत्रों के अनुसार, इस विशेष कार्य के लिए तीन सदस्य टीम को नियुक्त किया गया है, जिसमें वह नयागढ़ वन क्षेत्र से विशिष्ट जाति और आवश्यक संख्या में लकड़ी के गट्ठों को एकत्रित करेगी।

यह टीम मंगलवार को पवित्र महाप्रसाद, श्रीपाल और अन्य पूजा सामग्री लेकर श्रीमंदिर से नयागढ़ जिले के बाढमुला गांव जायेगी। वन से लकड़ी एकत्रित करने से पहले देवी बदरौला मंदिर में पूजा और हवन करने की प्रथा है।

रथ निर्माण कार्य के पर्यवेक्षक सुदर्शन मेकाप के अनुसार, तीनों रथों के निर्माण में ‘फासी, असान और धौरा’ के लिए लकड़ी के 806 गट्ठों की आवश्यकता पड़ेगी।

यह भी पढ़े: कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई कोरोना पॉजिटिव