बिहार में 20 जून से हर दिन दस हजार कोरोना जांच किये जायेंगे – स्वास्थ्य मंत्री

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि राज्य में कोरोना जांच की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। अभी प्रतिदिन लगभग पांच हजार जांच करने की क्षमता है।

👉 20 जून तक यह संख्या बढ़कर दस हजार तक होने की संभावना है।

👉 वहीं 15 जून तक राज्य के सभी जिलों में कोरोना की जांच शुरू हो जाएगी।

श्री पांडे ने बताया कि अभी आरटीपीसीआर मशीन से चार से पांच हजार जांच हो रही है । शेष जांच सीवी नेट मशीन और ट्रू नेट मशीन के द्वारा राज्य के 26 केंद्रों पर की जा रही है।

सीवी नेट मशीन के लिए अतिरिक्त कार्टेज भी मंगाए गए हैं। एक कोबास मशीन । जिसकी क्षमता प्रतिदिन एक हजार से अधिक जांच करने की है । वह इंस्टालेशन की प्रक्रिया में है। जबकि दो आरएनए एक्सट्रैक्टर मशीन को पटना के आरएमआरआई और आईजीआईएमएस में इंस्टाल कर दिया गया है।

👉 एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर के लिए एक अतिरिक्त ऑटोमेटेड आरएनए एक्सट्रैक्टर और आरटीपीसीआर मशीन भेजी जा रही है । जो अगले एक सप्ताह में वहां काम करने लगेगी।

श्री पांडे ने बताया कि राज्य में 35 ट्रू नेट कोरोना जांच मशीन काम कर रही हैं। इसके अतिरिक्त 22 मशीन और लगाए जा रहे हैं। जबकि 30 और ट्रू नेट मशीन 15 जून तक राज्य के विभिन्न जिलों में इंस्टाल कर दिया जाएगा।

इस प्रकार कुल 87 ट्रू नेट मशीन राज्य में काम करने लगेगा। साथ ही अन्य स्रोतों से प्राप्त होने वाले अतिरिक्त ट्रू नेट मशीन भी विभिन्न संस्थानों में स्थापित किये जायेंगे।

उन्होंने कहा कि अभी राज्य में 21 हजार आइसोलेशन बेड है। इन आइसोलेशन बेडों की संख्या बढ़ाकर 40 हजार किये जाने की योजना निर्धारित की गई है।