नाखूनों का बदलता हुआ रंग, इन गंभीर बीमारियों का संकेत है

नाखून पूरी तरह कैल्शियम और केरेटिन नामक प्रोटीन से बने होते है। हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी या कई गंभीर बीमारियां होने पर केरेटिन की सतह अत्यधिक प्रभावित होने लगती है, जिस वजह से नाखूनों में बहुत अधिक बदलाव आने लगता है। आज हम आपको नाखूनों में आए कुछ महत्वपूर्ण बदलाव के बारे में बताएंगे, जो हमे कुछ बीमारियों के संकेत भी देते है।

नाखून पीले होने के कारण
अगर नाखून का रंग हल्का पीला है तो यह एनीमिया, हृदय रोग, कुपोषण व लिवर संबंधी गंभीर बीमारियों का संकेत है। इसके अलावा फंगस इंफैक्शन की वजह से भी पूरा नाखून पूरी तरह पीली हो जाता है।

नाखून सफेद होने के कारण
अगर नाखून पूरी तरह सफेद पड़ जाते है तो यह लिवर, हृदय या आंतों की गंभीर बीमारियों का संकेत हो सकता है। ऐसे में डॉक्टरी सलाह अवश्य लें।

नाखून नीले होने के कारण
शरीर में ऑक्सीजन का संचार पूरी तरह सही ढंग से न चलने के कारण नाखून नीले पड़ जाते है। इसके अलावा यह फेफड़ों में इंफैक्शन, निमोनिया या दिल की गंभीर बीमारियों का संकेत हो सकता है।

मोटे और रूखे नाखून
अगर नाखून बहुत अधिक मोटे और खुरदरे है तो यह फंगल इंफैक्शन का संकेत हो सकता है। इसके अलावा रोग-प्रतिरोधक क्षमता में कमी आनें से भी नाखून पूरी तरह ऐसे दिखने लगते है।

यह भी पढ़ें-

फटे दूध से बनाएं ये चीजें, सेहत के लिए होगा फायदेमंद