सेल्फी लेने की आदत है बहुत ख़राब, जानिए कैसे?

सेल्फी लेना सब लोगों की हैबिट बन गई है। उसको लेने के लिए सिर्फ लोग अलग अलग तरीके ही नहीं अपनाते बल्कि नई नई जगह भी एक्स्प्लोर करते है ताकि उनकी फोटो में बैकग्राउंड भी अच्छा दिखे।

  • जैसे जैसे टेक्नोलॉजी एडवांस होती जा रही वैसे वैसे स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां भी मोबाइल कैमरे की क्वॉलिटी को सेल्फी के लिए अच्छा बनाती जा रही है। सेल्फी का क्रेज लोगो में बढ़ चढ़ कर देखने को मिल रहा है। आज के समय में सिर्फ युवा ही नहीं बल्कि बडे बूढ़े लोग भी सेल्फी के दिन पे दिन दीवाने होते जा रहे हैं। उन लोगों के लिए सेल्फी का क्रेज अच्छा है जो खुद को एकाकी महसूस करते है। सेल्फी लेने के कुछ फायदे है तो कुछ नुकसान भी है। इससे लोगो का वजन बढ़ता जा रहा है। आज हम आपके सामने ऐसे फैक्ट्स बताएँगे जिससे आप हैरान हो जायेंगे और मानने लगेंगे कि हाँ जरूर ऐसा होता है।
  • सेल्फी का क्रेज लोगो में ऐसा बढ़ गया है कि लोग सुबह उठकर अपने काम करना भूल जाते हैं लेकिन सेल्फी लेना नहीं भूलते। रीसर्च के मुताबिक, मॉनिंग वॉक या योगा करने वाला मनुष्य वॉक को तरह-तरह की सेल्फी लेने में खत्म कर देते हैं। इससे उनका सारा समय सेल्फी लेने में बेकार हो जाता है और वॉक पूरी तरह से नही हो पाती। सेल्फी लेने के चक्कर में हमारे शरीर का मास कम नहीं हो पाता। आजकल की औरते भी किचन में सेल्फी लेना नही छोड़ती। अगर वो किचन में कोई नई डिश बनाती है तो पहले उस डिश के साथ अपनी सेल्फी लेती है और दूसरो को बाद में सर्व करती है। आजकल के लोगों के दिमाग में सेल्फी लेकर, उसे सोशल मीडिया पर शेयर करने का भूत सवार हो गया है। सेल्फी की वजह से किसी को अपने बढ़ते मोटापे की परवाह नहीं है। लोग इस बात से जागरुक नहीं है कि यह हमारे मोटापे को आमंत्रण दे रहा है।
  • स्मार्ट फोन में नए नए फोटो एडिटिंग टूल्स यूज़र्स के लिए आ गए है जो चेहरे को पतला करने में बहुत हेल्पफुल होते है। लोग व्यायाम को नहीं बल्कि सेल्फी को ही अपना फिटनेस मंत्र समझने लगे हैं। सेल्फी सिर्फ एक दिखावा है।