इस कंपनी में काम करने वालों की लगी लाॅटरी! 220 कर्मचारी बन गए करोड़पति

आईटीसी ग्रुप में वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान प्रति वर्ष एक करोड़ रुपये से अधिक वेतन पाने वाले कर्मचारियों की संख्या 44 प्रतिशत बढ़ गई। कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। आईटीसी की नई वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया कि 2020-21 में प्रति माह 8.5 लाख रुपये या प्रति वर्ष एक करोड़ रुपये से अधिक वेतन पाने वाले आईटीसी कर्मचारियों की कुल संख्या 220 थी, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 153 थी।

क्या कहा कंपनी ने?

वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘220 ऐसे कर्मचारी थे, जो पूरे वित्त वर्ष में कार्यरत थे और जिन्हें इस दौरान कुल मिलाकर 102 लाख रुपये यानी प्रति माह 8.5 लाख रुपये या इससे अधिक पारिश्रमिक मिला।’’ कंपनी ने बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 में आईटीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक संजीव पुरी को मिला सकल पारिश्रमिक 5.35 प्रतिशत बढ़कर 12.59 करोड़ रुपये हो गया। इसमें 2.64 करोड़ रुपये का समेकित वेतन, 49.63 लाख रुपये का अनुलाभ / अन्य लाभ और 7.52 करोड़ रुपये का प्रदर्शन बोनस शामिल है।

कंपनी के पास कुल 23,829 कर्मचारी

वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया कि पुरी का वेतन सभी कर्मचारियों के पारिश्रमिक के औसत के मुकाबले 224 गुना था। उनका सकल पारिश्रमिक वित्त वर्ष 2020-21 में 11.95 करोड़ रुपये था। आईटीसी के कर्मचारियों की कुल संख्या 31 मार्च, 2022 तक 23,829 थी, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 8.4 प्रतिशत कम है।

यह पढ़े: 1 जुलाई से बदल रहा है ये जरूरी नियम: क्रिप्टोकरेंसी में पैसा लगाने वालों को जबरदस्त झटका