इन्हीं कानूनों को बनाने के लिए पिछली सरकारें भी बहस करती रहीं

कृषि कानूनों को लेकर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह का कहना है कि सरकार बड़े खुले मन से इसके समाधान में लगी हुई है, जो भी कानून बने हैं वो किसान हित में हैं। विडंबना ये है कि इन्हीं कानूनों को बनाने के लिए पिछली सरकारें भी बहस करती रहीं और अब उन मुद्दों पर आपत्ति जताई जा रही है जो इनमें हैं ही नहीं।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस को ऐसा लगता है कि विपक्षी पार्टी को हर चीज का विरोध करना चाहिए। जब सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक हुई तब भी उन्होंने सरकार पर सवाल उठाया था। कृषि कानूनों में भी वो ऐसा ही कर रहे हैं, ये उनके घोषणा पत्र में थे।

यह भी पढ़ें:

चक्का जाम के दौरान ट्रैक्टर पर ‘भिंडरावाले’ के झंडे पर क्या बोले राकेश टिकैत?