रसोई की शान प्याज अभी और रुलाएगा या होगा सस्ता, जानिये क्यों बढ़ रहे हैं दाम

पिछले कुछ सालों से प्याजने आम आदमी के आंसू निकालना जारी रखा हैं। प्याज की कीमतें कभी कम तो कभी ज्यादा हो रही है, जिसका असर आम गृहिणी की रसोई में पढ़ रहा हैं। बेमौसम बारिश और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का ही असर है कि एक महीने में प्याज के दाम दोगुना से ज्यादा बढ़ चुके हैं।

साल की शुरुआत में 25-30 रुपये किलो बिकने वाला प्याज अब कुछ शहरों में 60 रुपये प्रति किलो के पार हो गया हैं। उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक 11 जनवरी 2021 को हैदराबाद में एक किलो प्याज की कीमत 34 रुपये थी और अब वह 26 रुपये बढ़कर 60 रुपये आ गई हैं।

11 जनवरी की तुलना में 11 फरवरी को दिल्ली में प्याज के दाम में 19 रुपये, मेरठ में 20 रुपये, मुंबई में 14 रुपये, शिलांग में 10 रुपये, देहरादून में 7 रुपये, रांची में 5 रुपये और पटना में 3 रुपये किलो महंगा हुआ। हालांकि, नासिक, राजकोट, वारंगल, कोलकाता, नागपुर में प्याज 15 रुपये प्रति किलो सस्ता हुआ। वहीं दिल्ली में प्याज 50-60 रुपये किलो और 30 से 35 रुपए किलो में गाज़ीपुर मंडी में बिकने वाला प्याज अब यहां 40 से 45 रुपए किलो तक बिक रहा हैं।

प्याज महंगा होने की वजहें

पिछले साल दिसंबर-जनवरी में बेमौसम बारिश हुई थी। जिससे महाराष्ट्र में किसानों की फसलें बर्बाद हो गई और मंडी में सप्लाई घटी। उसका असर अब दिख रहा है। सप्लाई की दिक्कतों की वजह से देश की सबसे बड़ी थोक प्याज मंडी लासलगांव में प्याज का थोक रेट बीते 10 दिनों में 20 फीसद तक बढ़ा है।

दूसरी बड़ी वजह डीजल की कीमतों का लगातार बढ़ना भी एक है, क्योंकि माल ढुलाई महंगी हो गई है. 1 जनवरी को दिल्ली में डीजल का दाम 73.87 रुपये प्रति लीटर था, आज 78.38 रुपये है। नई प्याज की खेप मार्च के पहले हफ्ते में आना शुरू होगी, जिसके बाद कीमतें नीचे आने की उम्मीद है।

यह भी पढ़े: शूटिंग में बिजी थी सनी लियोनी और अचानक आ धमके गुंडे, जानें क्या हैं पूरा माजरा
यह भी पढ़े: ऑटो ड्राइवर की बेटी ने जीता मिस इंडिया रनर अप खिताब, बताई संघर्ष की कहानी