आलू का लाभ, नुकसान उसके बनाने के तरीके पर भी निर्भर है

वैसे तो आलू सदाबहार सब्जियों में से एक हैं,लेकिन मोटापे से ग्रसित लोग इसका सेवन करने से डरते हैं। वे सोचते हैं कहीं आलू से ओर वजन नहीं बढ जाए। अगर डॉक्टरों की माने तो आलू कभी वजन नहीं बढाता हैं। असल में आलू का लाभ नुकसान उसके बनाने के तरीके पर भी निर्भर है।

यदि इसे अधिक तेल घी के साथ खाया जाए तो इस तेल घी की चिकनाई बेहद ज्यादा नुकसान पहुंचाती है न कि आलू। आलू को उबालकर, गर्म रेत अथवा कंडे में भूनकर खाना गुणकारी होता है। सूखे आलू में 8.5 फीसदी प्रोटीन होता है जबकि सूखे चावलों में 6-7 फीसदी प्रोटीन होता है।

इस प्रकार आलू में ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है। जिस तरह आलू हमारी सेहत के लिए गुणकारी है। उससे अधिक गुणकारी इसका रस है। इसका सेवन करने आपको कई रोगों से निजात मिल जाता है।

आलू का रस एल्केलाइन होता है और ये शरीर का एल्केलाइन करता है जो हृदय और कैंसर जैसे रोगों से बचाव करता है। ये आर्थराइटिस, जोडों और पीठ के दर्द की रामबाण औषधि है।

-स्किन रोगों के​ लिए आलू बेहद गुणकारी होता हैं। आम तौर पर आलू को वजन बढाने वाला बताया जाता है, लेकिन आलू का रस वजन घटाने में कारगर है। इसे नाश्ते के पहले तथा सोने के 2 या 3 घंटे पहले पिया जाना चाहिए|

-इसके रस का अपना कोई स्वाद नहीं होता है, ऐसे में इसे गाजर के रस या शहद मिलाकर सेवन किया जा सकता है। ये शरीर से यूरिक एसिड की सफाई करता है।

चलिए आपको कुछ योग के बारे में बताते हैं, जिन्हे आजमाकर आप अपनी आंखों को रख सकते हैं स्वस्थ