इंग्लैंड की महारानी संसद के उद्घाटन में नहीं होंगी शामिल

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने संसद के राजकीय उद्घाटन समारोह से अपना नाम वापस ले लिया हैं। इसके पीछे की वजह उनका खराब स्वास्थय बताया जा रहा है। वर्ष 1963 के बाद पहली बार ऐसा होगा जब महारानी संसद के उद्घाटन में नहीं शामिल होंगी। महारानी के स्थान पर संसद के राजकीय उद्घाटन में प्रिंस चार्ल्स मंगलवार को भाषण देंगे।

बीबीसी ने बताया कि 96 वर्षीय महारानी ने अपनी अस्वस्थता के कारण हाल ही में कई सार्वजनिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है। बकिंघम पैलेस के अनुसार, वेस्टमिंस्टर में महारानी ‘एपिसोडिक अस्वस्थ समस्याओं’ के चलते संसद के राज्य उद्घाटन में शामिल नहीं होंगी तथा उनकी तरफ से प्रिंस चार्ल्स और प्रिंस विलियम को संसद के उद्घाटन का अधिकार प्राप्त हुआ है।

बीबीसी ने बताया कि संसद के राजकीय उद्घाटन में इंपीरियल स्टेट क्राउन को अभी भी संसद में लाया जाएगा लेकिन इस दौरान महारानी अस्वस्थ होने के कारण उनका सिंहासन खाली रहेगा। महारानी को छोड़कर प्रिंस चार्ल्स, कैमिला, डचेस ऑफ कॉर्नवाल और प्रिंस विलियम तथा अन्य सभी सांसद इस उद्घाटन में शामिल होंगे।

गौरतलब है कि वर्ष 1963 के बाद यह पहला मौका है जब महारानी एलिजाबेथ द्वितीय वेस्टमिंस्टर में इस संवैधानिक समारोह से चूकेंगी। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, वह अपने 70 साल के शासनकाल में केवल दो बार भाषण देने से चूकी थीं। वर्ष 1959 और 1963 में गर्भवती होने के कारण वह भाषण नहीं दे पायीं थीं। संसद का उद्घाटन संसदीय वर्ष की शुरूआत का प्रतीक माना जाता है।

इस दौरान महारानी द्वारा दिया गया भाषण सरकार के एजेंडे और उन कानूनों को निर्धारित करता है, जिन्हें वह पेश करना चाहती हैं।

यह भी पढ़े: श्रीलंका से भारत पलायन नहीं कर रहे राजनेता: भारतीय उच्चायोग