मूड ठीक करने में इनकी है सबसे महत्वपूर्ण भूमिका

अमेरिका के ऑरेगन स्टेट यूनिवर्सिटी (ओएसयू) के शोधकर्ताओं ने पाया है कि एक स्वच्छ रिश्ते को बनाए रखने से जिसमें स्वस्थ यौन जीवन भी शामिल है, कर्मचारियों को अपने काम में खुश और व्यस्त रखने में बहुत मदद करता है। इसका लाभ उस संगठन को भी मिलता है, जिसके लिए कर्मचारी काम करते हैं।

  • ओएसयू कॉलेज ऑफ बिजनेस के एसोसिएट प्रोफेसर ने शादीशुदा कर्मचारियों के काम और सेक्स आदतों का अच्छी तरह अध्ययन किया। उन्होंने 159 शादीशुदा कर्मचारियों का दो हफ्तों तक अध्ययन किया और उन कर्मचारियों को रोजाना दो सर्वेक्षण ठीक से पूरा करने को कहा।
  • उन्होंने पाया कि जिन कर्मचारियों ने रात में सम्बन्ध, अगले दिन वे काफी सकारात्मक मूड में नजर आए और सुबह-सुबह उनके अच्छे मूड के कारण उन्होंने काम पर बहुत ज्यादा ध्यान दिया, जिससे उन्हें नौकरी में संतुष्टि मिली। यह असर 24 घंटों तक नजर आया और पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान रूप से खूब असरकारी था। उन्होंने पाया कि मूड ठीक करने में सेक्स के अलावा अच्छी नींद की भी बहुत बड़ी भूमिका होती है।
  • उन्होंने बताया कि सेक्स करने से डोपामाइन नाम का न्यूरोट्रांसमीटर बहुत अधिक जारी होता है जो मस्तिष्क के ईनाम वाले हिस्से से जुड़ा होता है। साथ एक दूसरा न्यूरोट्रांसमीटर ऑक्सीटोसिन भी अधिक जारी होता है जो सामाजिक संबंध तथा लगाव से खूब जुड़ा होता है। ये दोनों मिलकर ही सम्बन्ध को मूड ठीक करने वाला प्राकृतिक तरीका बनाते हैं।

यह भी पढ़ें: