होता है कड़वा करेला पर खाने के हैं फायदे अनेक

करेले का छिलका कभी नहीं उतारना चाहिए, जो हम अकसर उतराते है और उसका कड़वा रस भी नहीं निकालना चाहिए। 10 से 15 दिन में एक बार करेला खाना सेहत के लिए अच्छा है।

करेले में अन्य सब्जी या फल की तुलना में अधिक औषधीय गुण पाये जाते हैं। यह आसानी से पच जाता है। इस में काफी मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट,फास्फोरस और विटामिन पाया जाता है।
करेला खाने के लाभ :-

लीवर संबंधी बीमारियों में करेला काफी फायेमंद है।

यह खून साफ करता है और हीमोग्लोबिन बढ़ाता है।

करेला पाचन शक्ति को दुरुस्त करता है जिससे भूख बढ़ती है।

दमा के मरीज को बिना मसाले की छौंकी हुई करेले की सब्जी खाने से लाभ मिलता है।

करेले के रस में नींबू का रस मिलाकर पीने से वजन कम होता है।

करेले की तासीर ठंडी होती है, इसलिए यह गर्मी से पैदा हुई बीमारियों के उपचार के लिए फायदेमंद है।

लकवा के मरीजों के लिए करेला बहुत फायदेमंद होता है। उन्हें कच्चा करेला खिलाना चाहिए।

कफ होने पर करेले का सेवन करना चाहिए। करेले में फास्फोरस होता है जिससे कफ दूर होता है।

मधुमेह के लिए तो करेला रामबाण इलाज है। इससे शुगर लेवल नियंत्रित रहता है।

पीलिया के रोगियों के लिए भी करेला बहुत फायदेमंद है। उन्हें पानी में करेला पीसकर खाना चाहिए।

उल्टी, दस्त या हैजा होने पर करेले के रस में थोड़ा पानी और काला नमक डालकर पीने से फायदा होता है।

पीरियड्स में दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये आसान घरेलू नुस्खे