पीरियड में होती है हैवी ब्लीडिंग, तो खाने पर दें खास ध्यान

मासिक धर्म एक ऐसी समस्या है, जिससे हर स्त्री प्रतिमाह जूझती है। इस दौरान शरीर के विभिन्न भागों में दर्द, ऐंठन आदि सामान्य है, लेकिन कुछ महिलाओं को इस समय बहुत अधिक हैवी ब्लीडिंग होती है, जिससे उनके ये दिन और भी अधिक कष्टभरे हो जाते हैं। अगर आपका नाम भी ऐसी महिलाओं की लिस्ट में शुमार है, जिन्हें पीरियडस में हैवी ब्लीडिंग होती है तो आपको विशेष रूप से अपने आहार पर ध्यान देना चाहिए। तो चलिए पीरियडस में हैवी ब्लीडिंग के दौरान कैसा हो आपका खानपान-

  • इस दौरान शरीर में पोटेशियम की काफी कमी हो जाती है, जिससे आपकी समस्या काफी बढ जाती है। इसलिए कोशिश करें कि आप पोटेशियम युक्त आहार जैसे केला, शकरकंद, छिलका समेत आलू, पालक, हरी पत्तेदार सब्जियां, दूध, दही, दाल, किशमिश और मछली को अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें।
  • साथ ही कोशिश करें कि आप अपने आहार को सेंककर या भाप से पकाकर खाएं। दरअसल, सब्जियों को तेज आंच पर उबालने से उसमे पोटेशियम की कमी हो जाती है।
  • वहीं इस दौरान विटामिन के वाले पदार्थ भोजन में जरूर शामिल करें। शरीर में विटामिन के की मौजूदगी भी शरीर से ज्यादा खून जाने से रोकती है। इसलिए आपके आहार में ब्रोकोली, हरी प्याज, गाजर, पालक, लाल शिमला मिर्च और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियों जैसे सरसों के हरे पत्तों, शलगम के हरे पत्ते, चुकंदर के हरे पत्तों, और पत्तागोभी अवश्य होनी चाहिए।
  • अगर आपके शरीर में मैग्नीशियम और आयरन की पर्याप्त मात्रा होती है तो भी आपको हैवी ब्लीडिंग की समस्या का सामना काफी हद तक नहीं करना पडता। इसलिए आप अपने आहार में उन पदार्थों केा अवश्य शामिल करें, जिनसे आपको मैग्नीशियम और आयरन पर्याप्त मात्रा में प्राप्त हो।
  • इसके अतिरिक्त पीरियड में ज्यादा ब्लीडिंग होने पर गुनगुने दूध के साथ एक चम्मच सरसो के दानों का पाउडर मिलाकर पीने से विशेष रूप से लाभ प्राप्त होता है।