महंगाई की मार से अभी नहीं मिलने वाली है राहत! नोमुरा ने दी ये चेतावनी

महंगाई की मार झेल रहे लोगों को अभी राहत नहीं मिलने वाली है। नोमुरा के अनुसार अभी आने वाले समय में एशिया में महंगाई की मार लोगों को और परेशान करने वाली है। जापान में खाद्य महंगाई दर दिसंबर में 2.7% था जो कि मई में बढ़कर 5.9% हो गई। बता दें, नोमुरा की यह रिपोर्ट सोमवार को प्रकाशित हुई है।

अपनी रिपोर्ट में नोमुरा ने क्या कहा है?

नोमुरा की रिपोर्ट के अनुसार साल के दूसरे चरण में एशिया में महंगाई अभी और बढ़ेगी। रिपोर्ट के अनुसार चीन में महामारी की वजह से लगा लाॅकडाउन, थाइलैंड के स्वाइन फीवर और भारत में गर्म हवाओं की वजह से जुलाई से दिसंबर तक महंगाई और बढ़ेगी।

रिपोर्ट के अनुसार, ‘जरूरत वाले सामानों की वजह से मंहगाई सीधा प्रभावित होती है। इससे मंहगाई दर बढ़ सकती है।’ बता दें, जकार्ता और मनीला ने महंगाई दर को देखते हुए न्यूनतम वेतन स्तर को पहले की तुलना में बढ़ा दिया है।नोमुरा के अनुसार मंहगाई अनाज और खाद्य तेलों के अलावा मांस, प्रोसेस्ड फूड और बाहर खाने जैसी कैटगरी में फैल रही है।

हालांकि, चावल को लेकर अभी राहत है। पर्याप्त स्टाॅक की वजह से इसके रेट्स सामान्य हैं। सिंगापुर जैसे देश जो ज्यादातर खाने का सामान बाहर से मंगाते हैं। वहां, महंगाई दर साल के दूसरे चरण में 4.1% से बढ़कर 8.2% तक जा सकती है। वहीं, भारत में कच्चे तेल की कीमतों में इजाफे की वजह से अनुमान है

यह 9.1% के लेवल तक जा सकती है। मई में भारत की रिटेल महंगाई दर 7.04% रही, जो कि अप्रैल महीने के मुकाबले इसमें मामूली गिरावट देखने का मिली। अप्रैल में रिटेल इंफ्लेशन रेट 7.79% पर पहुंच गया था। हालांकि, महंगाई दर आरबीआई के काबू से बाहर है।

यह पढ़े: राकेश झुनझुनवाला ने बेच दिए इस कंपनी के 57.5 लाख शेयर, खबर सुन निवेशकों में भगदड़, 10% तक टूटा स्टॉक