ऑन-डिमांड ब्रेस्टफीडिंग कराने के हैं ये बड़े फायदे !

जब बच्चा छोटा होता है तो मां को ही उसकी हर बात का ख्याल रखना पड़ता है। खासतौर से, छोटे बच्चे अपने आहार के लिए मां के दूध पर ही निर्भर होते हैं तो स्त्री को यह चिंता लगी रहती है कि कहीं उनका बच्चा भूखा होकर परेशान न हो।

इसलिए वे बच्चे को दूध पिलाने का समय निश्चित कर लेती हैं। हालांकि बच्चे को दूध पिलाने की आदत व रूटीन हर महिला का अलग-अलग हो सकता है। लेकिन फिर भी ऐसा माना जाता है कि बच्चे को ऑन डिमांड फीड कराने के बहुत से फायदे होते हैं-

ऑन डिमांड फीड का अर्थ होता है कि जब बच्चा भूखा हो और बच्चा रोकर इस बात का संकेत दे कि अब वह स्तनपान करना चाहता है।

ऑन डिमांड फीड का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि भूखा होने के कारण न सिर्फ बच्चा अच्छी तरह दूध खींच पाता है, बल्कि उसकी फीडिंग स्पीड भी बढ़ती है। साथ ही बच्चा पेट भरकर भी दूध पीता है। इस तरह दूध पीने से बच्चा स्वस्थ व हेल्दी रहता है।

अगर आप कामकाजी हैं और बच्चे को ऑन डिमांड फीड कराने में असमर्थ हैं तो आप अपना ब्रेस्ट मिल्क इकटठा करके स्टोर कर सकती हैं। इससे जरूरत पडने पर बच्चे को दूध आसानी से पिलाया जा सकेगा।