शरीर में सोडियम का लेवल नियंत्रण में नहीं रहने पर होती हैं ये बीमारियां!

नमक का हमारे खाने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। इसके बगैर हम अपने खाने की कोई कल्पना भी नहीं कर सकते। नमक के अंदर सोडियम मौजूद होता है। यह एक रासायनिक मिनरल है जो हमारे शरीर के फंक्शन्स को सही तरीके से चलाने के लिए बहुत ही आवश्यक होता है।

हमारे शरीर का फ्लुइड बैलेंस, मस्कुलर फंक्शंस, और तंत्रिकाओं के बीच होने वाली इलेक्ट्रिकल गतिविधि को सही तरीके से काम करते रहने के लिए शरीर में सोडियम के लेवल का नियंत्रण में होना बहुत ही आवश्यक है। लेकिन नमक का अधिक सेवन करना हमारे दिल के लिए बहुत ही खतरनाक सिद्ध हो सकता है। इसलिए खाने में नमक की मात्रा ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

स्वाद और सेहत

ज्यादा नमक वाला खाना खाने से स्वाद और सेहत दोनों पर एक जैसा प्रभाव पड़ता है। नमक ज्यादा खाने से उम्र घटती है। साथ ही दिल का दौरा होने का खतरा भी बढ़ता है।

हाई ब्लड प्रेशर

विशेषज्ञों के अनुसार नमक से हाई बीपी (ब्लेड प्रेशर) का सीधा संबंध है। इसलिए अपने खाने में नमक कम डालें। साथ ही अगर आपको कभी खाने में नमक कम लगे तो इसे ऊपर से ना डालें। यह याद रखें कि नमक का ज्यादा मात्रा में सेवन आपके रक्त संचरण और ब्लड प्रेशर को बिगाड़ सकता है।

दिल की बीमारी

ऐसा कहा जाता है कि नमक के ज्यादा सेवन से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए स्वस्थ दिल की खातिर आप अपने खाने में नमक की मात्रा का संतुलन बनाए रखे।

निर्जलीकरण

शरीर में ज्यादा नमक की मात्रा से निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं हो इसके लिए आप नमक की संतुलित मात्रा लेने के साथ भरपूर पानी पीए।

वाटर रिटेंशन

शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा होने पर पानी जरूरत से ज्यादा जमा हो जाता है। यह स्थिति वाटर रिटेंशन या फ्लूड रिटेंशन कहलाती है। ऐसी स्थिति में हाथ, पैर और चेहरे में सूजन हो जाता है। इससे त्वचा भी सूज जाती है। इसलिए शरीर में नमक की मात्रा का ध्यान रखने के साथ भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : 

मोटापे की वजह से बिगड़ गई है शेप, तो इन दो योगासन की मदद से आसानी से कम होगी चर्बी

जीभ के छालों से हैं परेशान? इन घरेलू नुस्खों को अपनाएं, मिनटों में मिलेगी राहत

Loading...