खाने से जुड़ी यह आदतें बना सकती हैं आपको कैंसर का मरीज

हाल ही में सोनाली बेंद्रे ने खुद इस बात की जानकारी दी कि उन्हें कैंसर हो गया है। चाहे कोई बड़ा सितारा हो या फिर आम व्यक्ति। आज के समय में अधिकांश लोग कैंसर की चपेट में आ चुके है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी सेहत को लेकर थोड़ी सावधानी बरतें। तो चलिए आज हम आपको उन आदतों के बारे में बताते हैं, जो कैंसर का कारण बन सकती है-

  • अक्सर लोगों को टपरी की चाय पीना काफी पसंद होता है। पर क्या आप जानते हैं इस तरह चाय पीना गर्म जहर पीने के बराबर है। दरअसल, टपरी पर चाय कप में मिलती हैं और इस तरह के कप बनाने के लिए जिस प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है उसमें बिस्फिनॉल ए और डाईडथाइल हेक्सिल फैलेट नामक केमिकल मौजूद होता है। जैसे ही यह गर्म चीज के संपर्क में आता है, यह टूटकर उसमें घुलने लगता है। जब ऐसी कप में गर्म चाय डालते हैं तो ये केमिकल्स चाय में घुलकर हमारे शरीर के अंदर जाते हैं। इसके कारण कैंसर होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।
  • वैसे अगर आप सोचते हैं कि सिर्फ प्लास्टिक के कप में चाय ही नुकसानदायक होती है तो आप गलत है। इस तरह की प्लेट्स में भी खाना खाना उतना ही हानिकारक है। इसलिए आप हमेशा प्लास्टिक की जगह पेपर या थर्माकोल से बने डिस्पोसेबल कप में ही चाय-कॉफी पिएं।
  • मूवी देखते समय अगर पाॅपकाॅर्न न हो तो फिल्म देखने का मजा ही नहीं आता। लेकिन अगर आप माइक्रोवेव में पाॅपकाॅर्न बनाकर खाते हैं तो आप अपनी सेहत को नुकसान पहुंचाते है। शायद आपको पता न हो कि माइक्रोवेव में बनने वाले पॉपकॉर्न आर्टिफिशियल मक्खन से भरे हुए होते हैं। जिससे आने वाली खुशबू में विषाक्त यौगिक डियसेटयल मौजूद होते हैं जो फेफड़ों के कैंसर का कारण बनते हैं।
  • इन सबके अतिरिक्त डिब्बाबंद चीजें भी कभी-कभी कैंसर का कारण बन जाती हैं। लेकिन अधिकांश डिब्बे बिस्फेनॉल ए बीपीए नामक उत्पाद से मिलकर ही बने होते हैं। जिनसे कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में अपने डीएनए को कैंसर से बचाने के लिए ताजा सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें।

यह भी पढ़ें:

इस मानसून में जरूर खाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली ये 3 चीजें

वायरल फीवर को कुछ ही समय में कीजिए छूमंतर, जानिए कैसे?

Loading...