लिवर की सूजन को दूर कर सकते हैं रसोई के ये मसाले, फैटी लिवर के मरीज जरूर करें ट्राय

ह्यूमन बॉडी के सबसे प्रमुख अंगों में से एक है लिवर, ये शरीर में मौजूद टॉक्सिक पदार्थों को बाहर निकालता है। साथ ही, खाना पचाने में भी मददगार है। लिवर के इर्द-गिर्द फैट की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो लोग फैटी एसिड की समस्या से पीड़ित हो जाते हैं। आमतौर पर भी लिवर में कुछ मात्रा में फैट मौजूद होता है। लेकिन जब इसके सेल में बहुत अधिक फैट जमा हो जाता है तो फैटी लिवर की बीमारी हो जाती है। इस स्थिति में लिवर में सूजन आने लगती है जिससे उसकी कार्यक्षमता प्रभावित होती है। मोटापे, हाई बीपी व डायबिटीज के मरीजों को इस बीमारी की चपेट में आने का खतरा अधिक होता है। हालांकि, इस बीमारी से बचाव के लिए रसोई के कई मसाले काम आ सकते हैं, आइए जानते हैं –

सौंफ: सेहत के लिए सौंफ बेहद गुणकारी मानी जाती है, लगभग हर किसी की रसोई में मौजूद सौंफ को लिवर के लिए बेहद कारगर माना जाता है। लिवर में इस बीमारी के कारण आई सूजन को कम करने में भी मददगार है सौंफ का सेवन, साथ ही ये मोटापा घटाने में भी सक्षम है। लिवर को हेल्दी रखने में सौंफ के बीज कारगर हैं। आप खाने के बाद इनका सेवन कर सकते हैं।

दालचीनी: लिवर को हेल्दी रखने में दालचीनी बेहद कारगर साबित हो सकती है। इसमें एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो इस बीमारी के कारण लिवर में आई सूजन को कम करने में मददगार है। इसके सेवन के लिए एक बर्तन में एक गिलास पानी और दालचीनी की 2 स्टिक डालें और उसे उबाल लें। 2 से 3 मिनट के बाद पानी को छान लें और सेवन करें। बेहतर परिणामों के लिए हेल्थ एक्सपर्ट्स रोज सुबह इसके सेवन की सलाह देते हैं।

हल्दी: हल्दी में जो सबसे जरूरी तत्व होता है वो है करक्यूमिन। ये तत्व नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर डिजीज के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। हल्दी लिवर सेल्स को सुरक्षित रखने में मदद करता है। एक गिलास पानी को उबाल लें और उसमें एक चुटकी हल्दी डालें। आप चाहें तो इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं। फैटी लिवर को दूर करने में इस गुनगुने पानी का सेवन करें।

यह भी पढ़े-

Uric Acid के मरीज करें गोभी और मशरूम से परहेज, इन फूड आइटम्स से दूरी भी जरूरी