हार्मोन असंतुलन के संकेत देते हैं ये लक्षण, न करें नजरंदाज

महिलाओं के शरीर में समयसमय- पर बदलाव होते हैं। जिसके कारण कई बार उनके शरीर का हार्मोंनल संतुलन बिगड़ जाता है। ऐसे में अगर समय रहते सजग नहीं हुआ जाता तो यही हार्मोन का असंतुलन उनके लिए एक साइलेंट किलर का काम करता है। तो चलिए आज हम आपको उन लक्षणों के बारे में बता रहे हैं जो कहीं न कहीं यह संकेत देते हैं कि आपके शरीर में हार्मोन का संतुलन बिगड़ गया है-

हार्मोन असंतुलन आपके शरीर के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, जिसके कारण महिलाएं स्वभाव से चिड़चिड़ी हो जाती हैं और हर छोटी बात पर भी गुस्सा भी आने लगता है।

हार्मोनल बदलाव व उसका असंतुलन महिलाओं के स्ट्रेस या तनाव का कारण बनता है। ऐसी महिलाएं बिना किसी कारण भी तनावग्रस्त रहने लगती हैं। लंबे समय तक तनाव के कारण आप डिप्रेशन या मानसिक प्रॉब्लम का शिकार हो सकती हैं। ऐसे में समय रहते इस समस्या को हल करें।

जब स्त्री के शरीर में हार्मोन गड़बड़ी होती है तो इसके कारण एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम हो जाता है। ऐसे में महिला की शारीरिक संबंधों में किसी प्रकार की रूचि नहीं रहती।

हार्मोन के असंतुलित होने से महिलाएं छोटी.छोटी बातें भूलने लगती है क्योंकि इसके कारण याददाश्त कमजोर हो जाती है।

हार्मोन्स के असुंतलन के कारण महिलाओं में मोटापा भी बढ़ता है। दरअसल, इसके कारण कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है जो कि तनाव पैदा करने वाला हार्मोन है। इससे नींद नहीं आती और नींद की कमी मोटापे का मुख्य कारण है।

मिठी मिश्री होती है सेहत के लिए फायदेमंद, जानिए कैसे