प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर बनाती हैं यह चीजें

कुछ लोग मौसम बदलने के साथ-साथ बेहद जल्द बीमार पड़ जाते हैं। इसका अर्थ यह है कि आपका प्रतिरक्षा तंत्र कमजोर है। डाइट, लाइफस्टाइल और भावानात्मक सेहत जैसे कारक इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में अहम रोल निभाते है। लेकिन कुछ ऐसे कारण भी होते हैं जो इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाने का काम करते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में-

वायरस और बैक्टीरिया हर तरफ मौजूद होते हैं और इंसानों पर हमला करने को तैयार रहते हैं। यदि साफ-सफाई का ध्यान ना रखा जाए तो महामारी फैलाने वाले कीटाणुओं को अपनी संख्या बढ़ाने का मौका मिल जाता है। इसलिए यदि आप इन्फेशन से बचना चाहते हैं तो सबसे आसान तरीका है कि हर बार खाने, बाथरूम इस्तेमाल करने पर, नहाने, साफ कपड़े पहनने और पानी पीने से पहले हाथ धोना न भूलें।

खानपान व्यक्ति की सेहत में एक अहम रोल निभाती है। इम्यून सिस्टम को सही तरीके से काम करने के लिए माइक्रोन्यूट्रिएंट्स जैसे विटामिन्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स की जरूरत होती है। इन सभी की पूर्ति ताजे फल और सब्जियों से होती है। बड़ी संख्या में इस संबंध शोध हुए हैं कि फल और सब्जियों में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने का काम करते हैं।

आपको शायद पता न हो लेकिन तनाव भी प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर बनाता है। इसके कारण शरीर इन्फेक्शन के खिलाफ लड़ नहीं पाता। तनावपूर्ण स्थितियों जैसे परीक्षा, व्यक्तिगत जीवन की परेशानियां और आर्थिक परेशानियों का तनाव इम्यूनिटी को कमजोर बनाने का काम करते हैं।

मोटापे का संबंध डाइट और एक्सरसाइज की कमी से है, जो इम्यूनिटी को कम करने का काम करता है। इससे एंटीबॉडीज का निर्माण नहीं हो पाता और व्हाइट ब्ल्ड सेल्स की संख्या भी नहीं बढ़ पाती है। मोटे लोगों में इन्फेक्शन से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है।

बिना पर्याप्त नींद के आपका इम्यून सिस्टम बीमारियों से लड़ने की क्षमता संचति नहीं कर पाता। इम्यूनिटी से जुड़ी सारी प्रक्रियाओं के सिग्नल मस्तिष्क से जुड़े होते हैं और यदि सही मात्रा में नींद न ली जाए तो उसका असर इम्यूनिटी पर पड़ता है।