टीबी रोग से जुड़ी वो बातें जो आपको जानना है बहुत आवश्यक

क्षय रोग (टीबी) जो कि माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस नामक एक बैक्टीरिया के कारण होता है। इसके बैक्टीरिया आम तौर पर फेफड़ों पर हमला करते हैं, लेकिन टीबी के बैक्टीरिया शरीर के किसी भी हिस्से जैसे कि किडनी, रीढ़ और मस्तिष्क पर हमला कर सकते हैं। टीबी के बैक्टीरिया का हमला किसी भी उम्र के लोगों पर हो सकता है। नतीजतन, हमारे सामने आज दो तरह की टीबी से संबंधित स्थितियां मौजूद हैं जिनमें कि गुप्त टीबी संक्रमण (एलटीबीआई) और टीबी रोग। यदि ठीक तरह से इलाज नहीं किया जाता है तो टीबी रोग घातक हो सकता है।

कैसे फैलते हैं इसके बैक्टीरिया-

टीबी के बैक्टीरिया हवा के द्वारा किसी एक व्यक्ति से दूसरे तक में फैल जाते हैं। इसके बैक्टीरिया के अटैक के बाद फेफड़े में जलन, खांसी आना इसके सबसे मुख्य लक्षण हैं। इसके बैक्टीरिया सांस के जरिए किसी एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे में भी फैल सकते हैं।

लेकिन आपके लिए ये जानना भी बहुत जरूरी है कि टीबी इन कारणों से नहीं फैलता है-

  • किसी से हाथ मिलाने पर।
  • किसी संक्रमित व्यक्ति के साथ भोजन करने से।
  • संक्रमित व्यक्ति के बिस्तरों को छूने से।
  • टूथब्रश शेयर करने से।
  • जब किसी व्यक्ति को टीबी का संक्रमण हो जात है तो उसके बैक्टीरिया फेफड़ों में व्यवस्थित हो जाते हैं और बढ़ने लगते हैं। जो कि आगे बढ़कर शरीर के अन्य भागों में जाकर वहां भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।