थिंक टैंकर्स और शोधकर्ताओं पर बौखलाया चीन, मुकदमा चलाने की दी धमकी

चीन सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदायों पर टॉर्चर किये जाने की खबरें काफी समय से सामने आ रही है। कई रिपोर्ट्स में इस विषय का जिक्र भी किया गया। जिसके बाद अब बीजिंग की तरफ से ऐसे शोधकर्ताओं और थिंक टैंक्सर्स के खिलाफ मुकदमा चलाने पर विचार किया जा रहा है। ग्लोबल टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक जर्मनी के शोधकर्ता एड्रियन जेन्ज और ऑस्ट्रेलियन स्ट्रैटजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट के थिंक टैंक के खिलाफ गलत सूचना को लेकर मुकदमा होगा।

बता दे जर्मन शोधकर्ता एड्रियन जेन्ज ने अपनी रिसर्च में खुलासा किया था कि शिनजिंयाग में अल्पसंख्यक समुदाय की जन्म दर में अचानक गिरावट आई। जिसके पीछे की वजह जन्म दर को नियंत्रित करने के लिए चलाई जा रही रणनीति है। वही दूसरी तरफ अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी चीन पर करारा वार करते हुए कहा था कि बीजिंग का यह निर्णय बताता है कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को मानव जीवन और मानव अधिकार का कोई सम्मान नहीं है।

पोम्पियो ने ट्वीट कर कहा था कि अमेरिका उईगर और अन्य अल्पसंख्यक महिलाओं पर जबरन जनसंख्या नियंत्रण के इस्तेमाल का आलोचक है। इसलिए वह चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी से को रोकने का आह्वान करता है। हमारा आज के काम का न्याय इतिहास करेगा। पोम्पियो ने एड्रियन जेनज के खुलासे का हवाला देते हुए कहा था कि चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी को मानव जीवन की पवित्रता और बुनियादी मानव गरिमा का कोई आदर नहीं है।

यह भी पढ़े धारावी में नियंत्रण में आया कोरोना संक्रमण, WHO ने की तारीफ
यह भी पढ़े: प्रतिद्वंदी नहीं बल्कि परस्पर भागीदार बने भारत और चीन- चीनी राजदूत