मेनोपाॅज के दौरान होते है शरीर में यह बदलाव

हर स्त्री के जीवन में माहवारी और उसके खत्म होने का एक समय होता है और जब आपके शरीर में यह बदलाव होता है तो आपके लिए कभी-कभी इसे समझ पाना बेहद मुश्किल होता है। तो चलिए आज हम आपको मेनोपाॅज से जुड़ी कुछ जरूरी बातें बताते हैं-

मेनोपॉज एक दिन में नहीं होता है बल्कि इसे आने में पूरा 12 महिने का समय लगता है। अपने आखिरी मासिक धर्म चक्र के 12 महिने के बाद आप मेनोपॉज की स्थिति आती है। इसके दौरान आप अनियमित पीरियड्स का सामना करते हैं।

मेनोपॉज के दौरान एस्ट्रोजेन के स्तर में गिरावट होती है जिसके कारण हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है और साथ ही कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर होने की संभावना को भी बढ़ाता है।

जो महिलाएं मेनोपॉज के स्थिति में होती हैं उन्हें रूखी और बेजान त्वचा का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा ना स्कैल्प में खुजली का समस्या भी होने लगती है। इसलिए इस दौरान मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करना बेहतर विकल्प होता है।