यह कंपनी अपने इस कारोबार का करेगी मर्जर, खबर के बाद एक झटके में 41 रुपये पर पहुंच गया शेयर

जैन इरिगेशन सिस्टम्स लिमिटेड के शेयरों में आज बुधवार को जबरदस्त तेजी देखने को मिली। कंपनी के शेयर शुरुआती कारोबार में 17% तक उछल गए। इंट्रा डे में कंपनी के शेयर 11.47% की तेजी के साथ 41.80 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। आपको बता दें कि कंपनी के शेयरों में तेजी के पीछे एक वजह है। कंपनी ने बताया है कि वह अपने ग्लोबल सिंचाई कारोबार का टेमासेक के स्वामित्व वाली रिवुलिस में विलय करेगी।

क्या है डील?

जैन इरिगेशन सिस्टम्स लिमिटेड अपने ग्लोबल सिंचाई कारोबार का टेमासेक के स्वामित्व वाली रिवुलिस में विलय करेगी। यह सौदा नकद और शेयर के रूप में होगा। इस कदम से कंपनी को अपने एकीकृत ऋण को 2,700 करोड़ रुपये या लगभग 45 प्रतिशत कम करने में मदद मिलेगी।

क्या कहा कंपनी ने?

कंपनी के प्रबंध निदेशक अनिल जैन ने मंगलवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि जैन इरिगेशन का वैश्विक सिंचाई कारोबार 4,200 करोड़ रुपये का है। इसमें से 2,700 करोड़ रुपये का इस्तेमाल पूरा विदेशी कर्ज चुकाने के लिए किया जाएगा और 200 करोड़ रुपये मूल कंपनी को मिलेंगे।

उन्होंने बताया कि विलय की गई इकाई में जैन इरिगेशन की 22 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी होगी जबकि रिवुलिस के पास 78 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। जैन के अनुसार, इस समझौते के अगले छह महीनों में पूरा होने की संभावना है और इससे संयुक्त इकाई का राजस्व 75 करोड़ डॉलर का होगा।

रिवुलिस का सालाना रेवेन्यू 40 करोड़ डॉलर

वर्तमान में, रिवुलिस का सालाना रेवेन्यू 40 करोड़ डॉलर है जबकि जैन इरिगेशन का वैश्विक सिंचाई कारोबार 35 करोड़ डॉलर का है। जैन इरिगेशन सिस्टम्स की शत प्रतिशत स्वामित्व वाली सहायक कंपनी जैन इंटरनेशनल ट्रेडिंग और रिवुलिस ने इस संबंध में निश्चित लेनदेन समझौते भी किए हैं।

यह पढ़े: ये तीन शेयर कर सकते हैं कमाल, एक्सपर्ट को भी है बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद