ऐसे बचें मल्टीपल स्क्लेरोसिस से !

मल्टीपल स्क्लेरोसिस यानी (MS) तंत्रिका तंत्र की गंभीर बीमारी है जो ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड को प्रभावित भी करता है। इस बीमारी के शुरुआती लक्ष्णों को कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर यह बीमारी लंबे समय तक बनी रहती है तो प्रभावित व्यक्ति को विकलांगता का शिकार भी होना पड़ता है। इस बीमारी के होनेवाले कारणों के बारे में अबतक पता भी नहीं लग पाया है।

हालांकि जानकारी के मुताबिक यह शरीर के इम्यून सिस्टम के कमजोर होने और माइलिन उत्पादक कोशिकाओं का बनना बंद होने से होती है। यह बीमारी आनुवांशिक और पर्यावरणीय कारकों से भी हो सकती है। यह बीमारी ज्यादातर 20 से 50 साल के लोगों में होती है लेकिन इसका शिकार बच्चे और प्रौढ़ भी हो सकते हैं। इसलिए इन 15 लक्ष्णों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

-विजन में समस्या
-हाथ-पैरों में झनझनाहट और उसमें कड़ापन
-थकान
-सरदर्द
-चक्कर आना
-मांसपेशियों में ऐंठन, जकड़न और कमजोरी
-शारीरिक संतुलन में दिक्कत
-मूत्राशय या आंत्र समस्याएं
-शरीर के किसी हिस्से में दर्द
-शरीर में कंपन होना
– सांस लेने में समस्या
-सोचने, सीखने और प्लानिंग में कोई समस्या
– अवसाद और चिंता
– बोलने में दिक्कत
– यौन समस्या

यह भी पढ़ें-

जानिए प्याज के ये फायदे जिसे जानकर हो जायेंगे हैरान !